Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बच्चे की चाहत : कैदी पति से संबंध बनाने की महिला की अपील पर हाईकोर्ट ने सरकार को दिया समय

महिला ने याचिका में कहा था कि उसका पति जेल में बंद है। उसे संतान की चाहत है और वह अपने पति से संबंध बनाना चाहती है।

बच्चे की चाहत : कैदी पति से संबंध बनाने की महिला की अपील पर हाईकोर्ट ने सरकार को दिया समय
X
हरियाणा हाईकोर्ट

एक कैदी की पत्नी की अपने पति के साथ संतान की चाहत के लिए संबंध बनाने की मांग पर हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) ने जवाब देने के हाईकोर्ट से दो सप्ताह का समय देने की मांग की। हाईकोर्ट के जस्टिस राजन गुप्ता पर आधारित बेंच ने सरकार को दो सप्ताह का समय देते हुए मामले की सुनवाई 11 मई तक स्थगित कर दी है।

इस मामले में याचिकाकर्ता महिला ने हाईकोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा था कि उसके पति को गुरुग्राम कोर्ट ने हत्या और अन्य अपराधों का दोषी ठहराया था और उसका पति 2018 से गुरुग्राम के भोंडसी जिला जेल में बंद है। महिला ने अपनी याचिका में कहा कि उसे संतान की चाहत है और वह अपने पति से संबंध बनाना चाहती है। याची महिला के वकील ने कहा कि मानवाधिकारों के तहत उसे वंश वृद्धि का अधिकार है। याची की तरफ से दलील दी गई कि क्या संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत उसे जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार है। कोर्ट को बताया गया कि पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने जसवीर सिंह बनाम पंजाब राज्य के एक केस का निपटारा करते हुए सरकार को कैदियों को वंश वृद्धि के पत्नी से संबंध बनाने पर सरकार को नीति बनाने को कहा था। सभी दलील सुनने के बाद जस्टिस राजन गुप्ता और जस्टिस करमजीत सिंह की खंडपीठ ने हरियाणा के एडीशनल एडवोकेट जरनल से पूछा था कि क्या राज्य सरकार नेजसवीर सिंह केस में हाई कोर्ट के आदेश पर इस तरह की कोई नीति बनाई है। कोर्ट ने राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को इस बाबत विस्तृत हलफनामा दायर करने का आदेश दिया था।

Next Story