Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में बढ़ता कोरोना : स्वास्थ्य मंत्री विज बोले- हालात चुनौतीपूर्ण, वायरस से लड़ने के लिए की यह खास तैयारी

मरीजों की संख्या बढ़ने हालातों पर विज का कहना है कि वास्तव में पिछले साल जैसे हालात बन गए हैं लेकिन वैक्सीन लगवाने व बचाव रखने की जरुरत है।

Anil Vij
X

 मंत्री अनिल विज

एक बार फिर से कोविड-19 का संक्रमण सिर चढ़कर बोलने लगा है, पड़ोसी राज्य पंजाब सहित अन्य कईं राज्यों में नाइट कर्फ्यू की शुरुआत हो गई है। एक दिन पहले ही प्रदेश के गृह एवं सेहत मंत्री अनिल विज ने केंद्रीय मंत्री डाक्टर हर्षवर्धन की वीसी में हिस्सा लेकर राज्य में इंतजामों और संक्रमण के बारे में जानकारी दी थी। अनिल विज ने साफ कर दिया है कि हालात एक बार फिर से चुनौतीपूर्ण हैं, इस संबंध में गुरुवार की शाम को पीएम राज्यों के साथ में वीसी करेंगे।

जिसके बाद ही कोई अहम फैसला लिया जा सकता है। हमने यूएलबी (अरबन लोकल बाडी) विभाग के आला अफसरों व पुलिस अफसरों से एक बार फिर एक्शन में आने व बिना मास्क घूमने वालों के चालान काटने के लिए कहा है। प्रदेश के गृह, सेहत व शहरी निकाय मंत्री अनिल विज ने देर शाम को हरिभूमि की ओर से किए गए कईं सवालों को लेकर जवाब दिए।

एक बार फिर से पिछले साल जैसे चुनौतीपूर्ण हालात, निपटने के लिए तैयारी

राज्य में संक्रमण बढ़ने और मरीजों की संख्या बढ़ने हालातों पर विज का कहना है कि वास्तव में पिछले साल जैसे हालात बन गए हैं लेकिन वैक्सीन लगवाने व बचाव रखने की जरुरत है। दूसरा हमने सभी आइसोलेशन सेंटरों, कोविड अस्पतालों को लेकर समीक्षा कर ली है, जिसके लिए तैयार रहने को कहा गया है। विज का कहना है कि सरकारी केंद्रों में अभी से मरीजों की अच्छी खासी संख्या है, इसीलिए निजी क्षेत्र के अस्पतालों को लेकर समीक्षा की तैयारी की जा रही है। जिन्हें तैयार रहने के लिए कहा गया है।

क्रिटिकल केयर सेंटर

सेहत और गृहमंत्री का कहना है कि राज्य में दो स्थानों पर हमने पिछले साल ट्रिपल सी अर्थात क्रिटिकल केयर सेंटर स्थापित करने की तैयारी कर ली थी। अब इनको भी दोबारा से तैयार करने के लिए कहा है, ताकि अति गंभीर मरीजों को वहां पर तुरंत दाखिल कर उनका उपचार शुरु हो सके। विज का कहना है कि राज्य में वैक्सीन की कमी आदि को लेकर किसी भी तरह के भ्रम व अफवाहों में नहीं आएंं हमारे पास व्यापक इंतजाम हैं।

एक बार फिर से रखा जाएगा ध्यान लेकिन कंटेनमेंट जोन का विकल्प तैयार

विज का कहना है कि एक बार फिर से संक्रमण व मरीजों की संख्या बढ़ रही है लेकिन इस बार कंटेनमेंट जोन नहीं बल्कि माइक्रो बहुत ही छोटे स्तर पर जोन तैयार कर दिया जाएगा। इसके अलावा हमने घरों में आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की हर दो रोज में एक बार चेक करने के साथ ही उपचार के लिए कहा है। घर जाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी मदद करेगी।

एनसीआर जिलों सहित सात जिलों में ज्यादा केस

स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि गुरुवार को पीएम के साथ में शाम को वीसी होने जा रही है। एक दिन पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ में वीसी हो चुकी है। अनिल विज का कहना है कि हमारे यहां पर सात जिलों में मरीजों की संख्या ज्यादा है। पंचकूला, गुरुग्राम अन्य पांच जिलों में हालात चुनौतीपूर्ण लेकिन पीएम की गुरुवार को वीसी के बाद में जैसे भी आदेश होंगे, उन पर सौ फीसदी अमल किया जाएगा।

दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं

विज का कहना है कि दल्लिी हाई कोर्ट की ओर से कार में अकेले व्यक्ति के भी मास्क लगाने के फैसले को लेकर कोई भी टप्पिणी नहीं करेंगे हालांकि हमने संबंधित विभागों को सख्ती, बिना मास्क वालों के चालान करने का आदेश जारी कर दिया है। सार्वजनिक कार्यक्रमों को लेकर भी एसओपी जारी कर दी गई है। जिन पर सख्ती के साथ अमल कराया जाएगा।

किसान आंदोलन को लेकर कानून हाथ में नहीं लें

विज ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन करें, धरने प्रदर्शन करें इसमें कोई बुराई नहीं है। लेकिन हिंसक औऱ कानून हाथ में लेने वाली घटनाएं बर्दाश्त नहीं होगी। किसी के घर, कार्यालय, कार्यक्रम में जाकर हिंसा करने व तोड़फोड़ के मामले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। उन्होंने सांसद व कईं विधायकों, मंत्रियों के कार्यक्रमों के दौरान हिंसा के मामलों पर नाराजगी जाहिर की है। विज ने कहा कि सभी को अपनी अपनी सीमा में रहकर आंदोलन करना चाहिए, आपसी तनाव और हिंसा कोई इलाज नहीं हैं।

Next Story