Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब रोडवेज कर्मियों के समर्थन में उतरे हरियाणा रोडवेज कर्मचारी, प्रदेशभर में किया विरोध प्रदर्शन

रोडवेज कर्मचारियों ने पंजाब के मुख्यमंत्री के नाम महाप्रबंधकों को ज्ञापन सौंपा और पंजाब सरकार की हठधर्मिता व हरियाणा सरकार की निजीकरण नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

पंजाब रोडवेज कर्मियों के समर्थन में उतरे हरियाणा रोडवेज कर्मचारी, प्रदेशभर में किया विरोध प्रदर्शन
X

कैथल में नारेबाजी करते हरियाणा रोडवेज कर्मचारी।

चंडीगढ़! हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के आह्वान पर पंजाब रोडवेज, पीआरटीसी, पन बस के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल व आंदोलन के समर्थन में हरियाणा रोडवेज के सभी डिपूओं में दो घंटे विरोध प्रदर्शन किया। पंजाब के मुख्यमंत्री के नाम महाप्रबंधकों को ज्ञापन सौंपा गया। प्रदर्शनकारियों ने पंजाब सरकार की हठधर्मिता व हरियाणा सरकार की निजीकरण नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के वरिष्ठ नेता इन्द्र सिंह बधाना, सरबत सिंह पूनिया, दलबीर किरमारा, आजाद सिंह गिल, नसीब जाखड़, दिनेश हुड्डा, बलवान सिंह दोदवा व बलबीर जाखड़ ने संयुक्त बयान में कहा पंजाब सरकार कच्चे कर्मचारियों को पक्का नहीं करके लम्बे अरसे से भारी शोषण कर रही हैं। उन्होंने कहा पंजाब में पंजाब रोडवेज, पी आर टी सी व पन बस को मिला कर केवल 2700 बसें ही है,जो जनसंख्या के अनुपात में बहुत कम है। कर्मचारी नेताओं ने आश्चर्यजनक जानकारी देते हुए कहा कुल कर्मचारियों मे केवल 10 प्रतिशत कर्मचारी पक्के है, शेष 90 प्रतिशत कर्मचारी कच्चे है। कच्चे कर्मचारियों को 10 वर्ष की सेवा पूरी होने के बावजूद भी पक्का करने की बजाए नाममात्र वेतन में जमकर शोषण किया जा रहा है।

प्रांतीय नेताओं ने बताया कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, पक्का होने तक सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार समान काम समान वेतन लागू करने, ठेका प्रथा बंद कर कच्चे कर्मचारियों को पे रोल पर रखने, भविष्य में पक्की भर्ती करने व निजीकरण पर रोक लगाने, विभाग में बढ़ती आबादी अनुसार सरकारी बसें शामिल करने आदि मांगों को लेकर 6 सितम्बर से सभी कच्चे कर्मचारी सफल अनिश्चितकाल हड़ताल पर है। उन्होंने बताया हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने प्रदेश भर के डिपूओं में पंजाब के कच्चे कर्मचारियों के आंदोलन के समर्थन में दो घंटे विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने बताया महाप्रबंधकों के माध्यम से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को ज्ञापन भेजकर सरकार से मांग की कच्चे कर्मचारियों को पक्का कर उनका शोषण बंद करे व कर्मचारी नेताओं से बातचीत कर सभी मांगों का समाधान करने सहित विभाग में 10 हजार सरकारी बसें शामिल करें। तालमेल कमेटी नेताओं ने कहा पंजाब रोडवेज कर्मचारियों के आंदोलन को मजबूत करने के लिए के लिए हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी नेता पंजाब रोडवेज के डिपूओं में दौरा करके आंदोलन में पूर्ण सहयोग करेंगे।

Next Story