Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान आंदोलन : बॉर्डर खुलवाने के लिए अब दिल्ली पुलिस से बात करेंगे हरियाणा के अधिकारी

बहादुरगढ़ में सरकार की हाई लेवल कमेटी ने स्थानीय उद्यमियों और किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ संयुक्त बैठक की। बैठक में पहले दौर की चर्चा के बाद प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा व पुलिस महानिदेशक प्रशांत अग्रवाल दल-बल के साथ टिकरी बॉर्डर पर पहुंचे और दिल्ली पुलिस द्वारा की गई सीलिंग का मुआयना किया।

किसान आंदोलन : बॉर्डर खुलवाने के लिए अब दिल्ली पुलिस से बात करेंगे हरियाणा के अधिकारी
X

 टीकरी बॉर्डर का निरीक्षण करते एसीएस व डीजीपी।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

मंगलवार को बहादुरगढ़ में सरकार की हाई लेवल कमेटी ने स्थानीय उद्यमियों और किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ संयुक्त बैठक की। बैठक में पहले दौर की चर्चा के बाद प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा व पुलिस महानिदेशक प्रशांत अग्रवाल दल-बल के साथ टिकरी बॉर्डर पर पहुंचे और दिल्ली पुलिस द्वारा की गई सीलिंग का मुआयना किया। इसके बाद फिर से दूसरे दौर की वार्ता हुई और एसीएस राजीव अरोड़ा ने इस मामले में अब दिल्ली पुलिस से चर्चा कर रास्ता खुलवाने की संभावना जताई।

बता दें कि मंगलवार को हुई इस उच्च स्तरीय बैठक में एसीएस राजीव अरोड़ा, डीजीपी पीके अग्रवाल, मंडलायुक्त पंकज यादव, एडीजीपी संदीप खिरवार, गृह सचिव बलकार सिंह, डीसी श्यामलाल पूनिया, एसपी वसीम अकरम, एसपी सोनीपत राहुल शर्मा व एसडीएम भूपेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे। बैठक में किसान आंदोलन के बाद टीकरी बॉर्डर पर अब तक बने हालात पर चर्चा की गई। आंदोलनकारी किसानों से जनहित में दिल्ली जाने वाले रास्ते खोलने की अपील की गई। उद्योगपति सुभाष जग्गा, नरेंद्र छिकारा, विकास आनंद सोनी, हरिशंकर बहती, मनोज सिंघल व पवन जैन आदि ने उनके समक्ष आ रही कठिनाइयों को रखते हुए यातायात में दिक्कत के अलावा अन्य दुश्वारियाें से अवगत करवाया।

किसानों की ओर से मौजूद अमरीक सिंह, कुलवंत सिंह, बलविंदर सिंह, जसपाल सिंह, बारूराम व रमेश सुंडाना ने बताया कि दिल्ली की तरफ जाने वाली सड़कें किसानों ने नहीं, बल्कि दिल्ली पुलिस ने बंद कर रखी हैं। सभी पक्षों को सुनने के बाद एसीएस ने मौके पर जाकर मुआयना किया। पूरा अमला टीकरी बॉर्डर पर पहुंचा। वहां उच्च अधिकारियों ने देखा कि बाई तरफ की सड़क पर किसानों का पंडाल लगा था। जबकि उसके पीछे दोनों लेनों को दिल्ली पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग करके बंद किया हुआ है। बॉर्डर से वापिस आने के बाद दूसरे दौर की वार्ता हुई। मिनट्स ऑफ मीटिंग तैयार हुई। बैठक के बाद एसीएस ने रास्ते खुलवाने के लिए अब दिल्ली पुलिस से चर्चा करने की बात कही।

Next Story