Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खास बातचीत : हरियाणा के डीजीपी बोले- कोविड के नियम तोड़े तो केस होगा दर्ज

डीजीपी मनोज यादव ने कहा कि राज्य के अंदर कानून व्यवस्था किसी को भी हाथ में लेने और अशांति फैलाने की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी, बाकी शांतिपूर्ण आंदोलन, विरोध प्रदर्शन करने की मनाही नहीं हैं।

हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मनोज यादव
X
हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मनोज यादव

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

हरियाणा डीजीपी मनोज यादव ने साफ कर दिया है कि राज्य के अंदर कानून व्यवस्था किसी को भी हाथ में लेने और अशांति फैलाने की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी, बाकी शांतिपूर्ण आंदोलन, विरोध प्रदर्शन करने की मनाही नहीं हैं। संयुक्त किसान संघर्ष समिति की ओर से चलाए जा रहे आंदोलन को लेकर पुलिस ने प्रमुख ने यह बात कही है। उन्होंने राज्य में राज्य में संगठित अपराध को किसी भी सूरत में नहीं पनपने देने और अपराध मुक्त राज्य बनाने का संकल्प दोहराया व कहा कि इस दिशा में पुलिस ने कईं खास मुहिम चलाकर नामी गिरामी बदमाशों को कईं राज्यों व विदेशों तक से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

पुलिस प्रमुख ने कहा कि संयुक्त किसान संघर्ष समिति के आंदोलन और शनिवार रविवार को जाम की काल को देखते हुए व्यापक इंजाम कर लिए गए हैं। साथ ही किसान नेताओं से बातचीत कर शांतिपूर्ण ढंग से चलाने के लिए कहा है क्योंकि कानून व्यवस्था बिगाड़ने, अशांति फैलाने की घटना बर्दाश्त नहीं होंगी। बातचीत में किसानों नेताओं ने भी जरूरी सेवाएं एंबूलेंस आदि को लेकर पूरा ध्यान रखने और निकालने का आश्वासन दिया है। हरियाणा में सोनीपत में दो स्थानों, झज्जर में दो स्थानों और बादली में चार स्थानों पर आंदोलन के असर, पलवल नूंह में ट्रैफिक दबाव को ध्यान मेंरखकर केजीपी और केएमपी दोनों हाइवे पर वैकल्पिक रास्तों से ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया। इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश भी दिए हैं।साथ ही एडवाइजरी एक दिन पहले शुक्रवार को ही जारी कर दी गई थी। किसानों की ओर से 24 घंटे तक मार्ग प्रभावित रखने का अल्टीमेटम दिया गया है। डीजीपी का कहना है कि सभी स्थानों और अहम मार्गों पर ट्रैफिक थमे नहीं रुके नहीं फार्मूले पर काम किया गया, सभी स्थानों पर शांति भी बनी रही। वैकल्पिक रास्तों से वाहनों को निकाला गया। ट्रैफिक को रोहतक, झज्जर, पानीपत सनौली भालगढ़ से निकाला।

कईं नेताओं के साथ हुई घटना के बाद सख्ती

डीजीपी ने साफ कर दिया है कि शांति से प्रदर्शन में कोई बुराई नहीं लेकिन सासंद नायब सैनी की गाड़ी पर हमला, तोड़फोड़, जजपा प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह के काफिले पर हमला व अन्य कईं स्थानों पर हमने कठोर कार्रवाई व गिरफ्तारी की है। गिरफ्तारी के विरोध में इक्का दुक्का जगह प्रदर्शन भी हुए लेकिन कानून अपना काम करेगा। अगर भविष्य में भी किसी ने कोई घटना की तो बख्शा नहीं जाएगा।

दोबारा कोविड संक्रमण, पुलिस सख्ती को तैयार

डीजीपी ने साफ कर दिया है कि कोविड संक्रमण एक बार फिर से बुरी तरह फैलने लगा है। इस संबंध में देश के पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम और एचएम लगातार मीटिंग कर रहे हैं। पुलिस को सख्ती बरतने के लिए कहा गया है। लोगों को लापरवाही नहीं करने, वैक्सीन लगवाने के लिए आगे आना चाहिए, सभी एसपी, और बाकी पुलिस अफसरों को बिना मास्क वालों के तुरंत ही चालान करने के लिए कहा गया है। राज्य में तीन हजार हर दिन चालान काटे जा रहे थे लेकिन गृहमंत्री ने एक बार फिर इसे इसमें तेजी लाने के लिए कहा है, पहले जहां हर दिन लगभग तीन हजार चालान किए जा रहे थे, वहीं अब छह हजार चालान हर रोज हो रहे हैं। हमने विभागों से तालमेल कर तीन सदस्यों की टीम तैयार की है, जो चालान कर रही और मौके पर ही जुरमाना लेने का काम कर रही है। इसी तरह से भीड़भाड़ वाले स्थानों, कार्यक्रमों पर नजर रखने और संचालकों पर शिकंजा कसने के लिए कहा गया है।

बेल जंपरों और भगौड़ों पर होगी सख्ती

डीजीपी ने बताया कि एक मुहिम के तहत बेल जंपरों और भगौड़ों पर सख्ती के लिए कहा गया है। पुलिस ने इसके विरुद्दध एक मुहिम भी चला दी है। पुलिस, एसटीएफ मिलकर बड़े अपाधियों को गिरफ्तार भी कर रहे हैं। बड़े अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए हरियाणा में हकोका राष्ट्रपति के पास फाइल गई है, मुहर लगते ही इसे अमल में लाया जाएगा। आने वाले दिनों में पीएमएलए प्रीवेंशन आफ मनी लांड्रिंग कानून के तहत अब अपराधियों की संपत्तियों पर शिकंजा कसने के लिए ईडी जैसी एजेसियों का सहयोग भी लिया जाएगा। अवैध हथियारों, ड्रग तस्करों को मेरठ, आगरा, इंदौर, दिल्ली सहित कईं राज्यों से उठाकर लाया गया है। अब इस तरह के अपराधियों पर भी नजर रखी जा रही है, जो बेल पर आकर बाहर अपराध करते हैं, संबंधित अदालतों को बताकर इस तरह के अपराधियों को जमानत खारिज करने में न्यायालय का सहयोग मिल रहा है। हरियाणा पुलिस प्रमुख मनोज यादव ने कहा कि हरियाणा को अपराध मुक्त बनाने और संगठन अपराधों अपराधियों पर लगाम लगाने को लेकर गृहमंत्री की ओर से जो भी निर्देश दिए जा रहे हैं, उनका पूरी तरह से पालन करेंगे।

अपराधियों की संपत्ति पर शिकंजे की तैयारी

पुलिस प्रमुख मनोज यादव का कहना है कि प्रदेश की युवा पीढ़ी बड़े अपराधियों की गतिविधियों को लेकर गलत दिशा में नहीं जाए, इसीलिए हम अपराध से अर्जित संपत्ति पर कईं तरह से शिकंजा कसने जा रहे हैं। जनता की प्रापर्टी पर बनाए जाने वाले निर्माण भी ढहाए जाएंगे इस कम में हमने दीपक कौशल गैंग, नारनौल के चीकू, मनोज मांगडिया पर शिकंजा कसा है।

Next Story