Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा : स्कूलों में कल से शुरू हाेंगी चौथी व पांचवीं की कक्षाएं, खाना नहीं करना होगा शेयर, घर से लाना होगा पानी

बच्चों के पहुंचने से पहले शिक्षक स्कूल के कमरों को सेनिटाइज करवा रहे हैं। स्कूल परिसर की सफाई भी करवाई जा रही है, ताकि बच्चों में किसी तरह का कोई संक्रमण न फैल सके। बच्चों के बैठने की सीटों की भी सफाई करवाई जा रही है।

हरियाणा : स्कूलों में कल से शुरू हाेंगी चौथी व पांचवीं की कक्षाएं,   खाना नहीं करना होगा शेयर, घर से लाना होगा पानी
X

हरियाणा : स्कूलों में कल से शुरू हाेंगी चौथी व पांचवीं की कक्षाएं

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

कोरोना की रफतार थमने के बाद बच्चों की ऑफ लाइन पढाई ने गति पकड़ी है। अब ऑन लाइन की बजाए बच्चों की ऑफ लाइन पढाई होगी । जिसके तहत बुधवार से चौथी व पांचवीं कक्षा के बच्चों की कक्षाएं लगाई जाएंगी। इस दौरान कोई भी बच्चा आपस में खाना शेयर नहीं करेगा, साथ में घर से लाई गई बोत्तल का पानी ही इस्तेमाल कर सकेगा। यहां तक कि शिक्षा विभाग ने फिलहाल स्कूलों में मिड डे मिल का राशन बनाने पर भी बंदिश लगा दी है।

आगामी आदेशों तक बच्चे घर से बना हुआ खाना ही स्कूलों में लाएंगे। साथ ही शिक्षा विभाग ने प्राइमरी स्कूल के बच्चों को सोशल डिस्टेंस के तहत क्लास में बैठकर पढाई करने के निर्देश दिए है। जानकारी के अनुसार शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने चौथी व पांचवी कक्षा के बच्चों की एक सितम्बर से क्लासें लगाए जाने के निर्देश दिए थे। जिसके तहत बुधवार से सभी स्कूलों में चौथी व पांचवीं कक्षा की कक्षाएं लगाए जाने की तैयारी शुरू कर दी है। बच्चों के पहुंचने से पहले शिक्षक स्कूल के कमरों को सेनिटाइज करवा रहे हैं। स्कूल परिसर की सफाई भी करवाई जा रही है,ताकि बच्चों में किसी तरह का कोई संक्रमण न फैल सके। इसके अलावा बच्चों के बैठने की सीटों की भी सही ढंग से सफाई करवाई जा रही है।

नहीं कर सकेंगे आपस में खाना शेयर

नए निर्देशों के मुताबिक शिक्षा विभाग ने प्राइमरी स्कूल के बच्चों को घर से लाए गए खाने को आपस में शेयर न करने के निर्देश दिए हैं। जो बच्चा खाना लाए, वह किसी भी बच्चे को न दे और सोशल डिस्टेंस रखते हुए अकेले ही खाना खाए। इसी तरह कोई भी विद्यार्थी स्कूल में बनी पानी की टंकी का पानी न पिए, बल्कि रोजाना अपने घर से पानी की बोत्तल लेकर आएं। जो बच्चा पानी की बोत्तल लेकर आएगा वही बच्चा उस बोत्तल से पानी पिए। अगर कोई बच्चा पानी की बोत्तल नहीं लाता है तो वह छुट्टी के वक्त या इससे पहले अपने घर जाकर पानी पिए। इन मामलों में किसी तरह की कोई अनियमितता नहीं होनी चाहिए।

मिड- डे मील के बारे में स्पष्ट निर्देश नहीं

शिक्षा विभाग ने चौथी व पांचवीं कक्षा के बच्चों को स्कूलों में जाने की अनुमति दे दी है, लेकिन अभी उनको दोपहर में दिए जाने वाले भोजन के बारे में कोई स्पष्ट निर्देश नहीं दिया गया है। फिलहाल स्कूल मुखियाओं के केवल स्कूलों में खाना न बनाने के निर्देश दिए है। हालांकि 31 अगस्त का राशन बच्चों के घरों में पहले से ही दिया जा चुका है, लेकिन अब नए निर्देशों के तहत उक्त योजना के तहत राशन बनाए जाने के बारे में कोई स्पष्ट निर्देश नहीं है। फिलहाल बच्चों को अपने अपने घरों से ही खाना लाए जाने के आदेश हैं।

तापमान जांचने के बाद ही मिलेगा प्रवेश

जानकारी के अनुसार शिक्षा विभाग ने चौथी व पांचवी कक्षा के बच्चों को बिना तापमान जांचे स्कूल में प्रवेश नहीं मिलेगा। प्रत्येक स्कूल में टीचर स्कूल के मुख्य गेट पर तैनात होंगे और जो भी बच्चा स्कूल में आएगा। सबसे पहले उस बच्चे के माथे का तापमान मापा जाएगा। तापमान सही मिलने पर ही बच्चे को स्कूल में प्रवेश मिलेगा। अगर बच्चे का तापमान ज्यादा मिला तो उस बच्चे को वापस घर पर भेजा जाएगा। सामान्य तापमान में ही बच्चे ही स्कूल आ सकेंगे। उसके बाद बच्चों के हाथों को सेनिटाइज करवाया जाएगा। सोशल डिस्टेंस अपनाते हुए आधी संख्या में बच्चों को क्लासों में बैठाए जाने के निर्देश दिए हैं।




Next Story