Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पानी विवाद पर हरियाणा के मुख्यमंत्री बोले- केजरीवाल से दिल्ली नहीं संभल रही तो हमें दे दो

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि दिल्ली में जल प्रबंधन की कुव्यवस्था के चलते दिल्लीवासियों को पानी के संकट का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए झूठी राजनीतिक बयानबाजी कर रही है। चाहे कोरोना में ऑक्सीजन की जरूरत का मामला हो या प्रदूषण का, हर मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री हमारे सिर भंडा फोड़ देते हैं।

पानी विवाद पर हरियाणा के मुख्यमंत्री बोले- केजरीवाल से दिल्ली नहीं संभल रही तो हमें दे दो
X

सीएम मनोहर लाल।

दिल्ली और हरियाणा के बीच चल रहे पानी के विवाद पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ( Haryana Cm Manohar lal ) ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Delhi Cm Arvind Kejriwal ) को विज्ञापन का शौक है और उच्चतम न्यायालय ने जितनी मात्रा निर्धारित कर रखी है उतना पानी हरियाणा दिल्ली को दे रहा है। पानी की आवश्यकता तो हरियाणा की भी दिल्ली से कम नहीं है। मुख्य रूप से जहां हरियाणा की 2 करोड़ 90 लाख आबादी है वहीं दिल्ली की आबादी 2 करोड़ है। इस लिहाज से हमें उनसे डेढ़ गुना ज्यादा पानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यमुना से हमें 2 हजार कयूसिक पानी मिलता है जिसमें से 1 हजार 50 क्यूसेक पानी दिल्ली को दे रहे हैं। मुख्यमंत्री गुरूग्राम में जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में जल प्रबंधन की कुव्यवस्था के चलते दिल्लीवासियों को पानी के संकट का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए झूठी राजनीतिक बयानबाजी कर रही है। चाहे कोरोना में ऑक्सीजन की जरूरत का मामला हो या प्रदूषण का, हर मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री हमारे सिर भंडा फोड़ देते हैं, जबकि सब मुद्दा इन्होंने अपने आप बनाया हुआ है। अगर उनसे दिल्ली नहीं संभल रही तो हमे दे दो, हम संभाल लेंगे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्मरण करवाया कि किस प्रकार दिल्ली सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के समय जरूरत से ज्यादा ऑक्सीजन लेकर उसका अनावश्यक रूप से भंडारण किया । उन्होंने कहा कि हमारे यहां केस ज्यादा थे और दिल्ली से भी मरीज ईलाज के लिए हमारे यहां आ रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में जहाँ दो करोड़ 90 लाख की आबादी पर 282 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई वहीं दिल्ली सरकार अपनी मात्र दो करोड़ की आबादी के लिए सुप्रीम कोर्ट से 700 मीट्रिक टन की आपूर्ति का निर्णय ले आई। कम ऑक्सीजन मिलने के बावजूद भी हमने अपने कुशल प्रबंधन से जरूरतमंदो तक ऑक्सीजन पहुंचाई।

हरियाणा से मारूति का प्लांट कहीं नही जा रहा

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा से मारूति का प्लांट कहीं नही जा रहा है, यह प्लांट हरियाणा में ही रहेगा। मुख्यमंत्री ने मानेसर से मारूति डिजायर का प्लांट गुजरात के अहमदाबाद जाने के बारे में कांग्रेस द्वारा दिए गए बयान पर कहा कि इस बात में कोई दम नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय में मारूति एक बार अपना एक प्लांट गुजरात ले गई थी, इस बात के लिए कांग्रेस के लोगों को शर्म आनी चाहिए कि उनके समय में मारूति का एक प्लांट पहले गुजरात जा चुका है, इसलिए वे हमारे सिर पर ठीकरा फोड़ेंगे ,यह गलत है। उन्होंने कहा कि मारूति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के अधिकारियों के साथ हमारी बातचीत चल रही है, उन्होंने खरखौदा में भी जमीन देखी है, बहुत जल्द हमारा उनके साथ जमीन का मामला सैटल होगा और यह प्लांट यहीं चलता रहेगा।

Next Story