Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा बजट सत्र : गांव की चौपालों के लिए मैचिंग ग्रांट बढ़ाई जाएगी, देखें और भी फैसले

विधानसभा में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि चौधरी देवीलाल ने अपने मुख्यमंत्रीत्व काल में हरियाणा में चौपालों के लिए मैचिंग ग्रांट देने की शुरूआत की थी।

हरियाणा बजट सत्र : गांव की चौपालों के लिए मैचिंग ग्रांट बढ़ाई जाएगी, देखें और भी फैसले
X

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (फाइल फोटो)

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पंचायत विभाग द्वारा गांव की चौपालों को आधुनिक करने के लिए मैचिंग ग्रांट बढ़ाई जाएगी। उप मुख्यमंत्री ने विधानसभा में बजट सत्र के दौरान जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल ने अपने मुख्यमंत्रीत्व काल में हरियाणा में चौपालों के लिए मैचिंग ग्रांट देने की शुरूआत की थी। उन्होंने बताया कि राज्य में कुछ बड़ी पंचायतों द्वारा अपने स्वयं के फण्ड से आधुनिक सामुदायिक केन्द्र बनाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार पंचायतों को आत्मनिर्भर बनाना चाहती है ताकि छोटी सरकार कही जाने वाली ग्राम पंचायत अपनी मर्जी के अनुसार गांव में विकास कार्य करवा सके। दुष्यंत ने कहा कि प्रदेश सरकार चौपालों को दी जाने वाली मैचिंग ग्रांट में बढ़ोतरी करके कम्युनिटी सेंटर परम्परा को आगे बढ़ाने को प्रोत्साहन देगी। डिप्टी सीएम ने बताया कि राज्य सरकार ने बीपीएल परिवार के लिए किसी भी सदस्य की वार्षिक आय सीमा दिसम्बर, 2019 में 1.20 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.80 लाख रुपये कर दी थी, यह आय-सीमा राज्य सरकार द्वारा लागू की गई बीपीएल परिवारों की सभी योजनाओं पर लागू है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार अपने राज्य के गरीब लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।

साहा में राज्य का दूसरा प्रौद्योगिकी केन्द्र स्थापित किया जाएगा

अम्बाला जिला में स्थित साहा कस्बा में राज्य का दूसरा प्रौद्योगिकी केन्द्र स्थापित किया जाएगा और इसके लिए 20 एकड़ भूमि अधिगृहित करके केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेज दिया गया है। दुष्यंत चौटाला ने विधानसभा में बजट सत्र के दौरान बताया कि वैसे तो भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय द्वारा देश के एक राज्य में एक प्रौद्योगिकी केन्द्र खोलने की योजना है, परंतु हरियाणा सरकार ने केन्द्र सरकार से अनुरोध करके दूसरा प्रौद्योगिकी केन्द्र साहा में खोलने का प्रस्ताव रखा है। उन्होंने बताया कि इससे पहले भारत सरकार द्वारा 11 सितम्बर, 2018 को आईएमटी, रोहतक में एमएसएमई प्रौद्योगिकी केन्द्र की स्थापना की जा चुकी है। इस केन्द्र में अल्पावधि व दीर्घावधि के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसके अलावा, यहां पर वर्कशॉप व सेमिनार भी उद्योगों की आवश्यकतानुसार आयोजित किए जाते हैं। प्रौद्योगिकी केन्द्र, रोहतक की तरह अम्बाला जिला के साहा में भी प्रौद्योगिकी केन्द्र स्थापित किया जाएगा।

औद्योगिक क्षेत्रों की टोपोग्राफी होगी

हरियाणा के औद्योगिक क्षेत्रों की टोपोग्राफी का कार्य पूरा होने के बाद नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग, स्थानीय नगर निकाय विभाग तथा उद्योग एवं वाणिज्य विभाग द्वारा संयुक्त रूप से मिलकर एक पॉलिसी तैयार की जाएगी। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि प्रदेश के कुछ हिस्सों में इन्डस्ट्रियल एसोसिएशन के सदस्यों ने उनसे मुलाकात करके अनधिकृत क्षेत्र में स्थापित कारखानों को अधिकृत करने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि इस बारे में राज्य सरकार ने औद्योगिक क्षेत्र का सर्वे करवा लिया है और अब टोपोग्राफी करवाई जा रही है। इसके बाद एक नीति बनाकर आगे की कार्यवाही की जाएगी। डिप्टी सीएम ने बताया कि पानीपत में भारत सरकार द्वारा मैडिकल उपकरण हब बनाया जा रहा है, जिससे इस क्षेत्र में और अधिक विकास होगा।



Next Story