Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिंदू नव वर्ष पर ऐतिहासिक भद्रकाली मंदिर पर होगी भव्य आतिशबाजी

मंदिर पीठाध्यक्ष सतपाल शर्मा ने बताया कि दुबई में नववर्ष पर हर साल बुर्ज खलीफा पर आतिशबाजी देखने के लिए हजारों की संख्या में भारतीय जाते हैं। उसी प्रकार नए साल पर इस तरह का आयोजन अब श्रीदेवीकूप मां भद्रकाली मंदिर में हर साल किया जाएगा।

हिंदू नव वर्ष पर ऐतिहासिक भद्रकाली मंदिर पर होगी भव्य आतिशबाजी
X

मां भद्रकाली मंदिर 

हरिभूमि न्यूज : कुरुक्षेत्र

दुबई के बुर्ज खलीफा जैसी भव्य आतिशबाजी इस बार 13 अप्रैल को हिंदू नववर्ष विक्रम संवत पर हरियाणा के एकमात्र प्राचीन शक्तिपीठ श्रीदेवीकूप मां भद्रकाली मंदिर के 108 फुट ऊंचे गुंबद पर नजर आएगी। प्रथम नवरात्र को रात्रि आठ बजते ही भव्य आतिशबाजी शुरू होगी। यह पांच मिनट तक चलेगी। यह आतिशबाजी न केवल मंदिर परिसर बल्कि दूर-दूर तक दिखाई देगी।

यह आतिशबाजी ऑटोमेटिक रिमोट कंट्रोल से चलेगी जो चारों दिशाओं में अपनी रंग बिरंगी रोशनी बिखेरेगी। पटाखे एक्सपर्ट की पांच सदस्यीय टीम रविवार को मंदिर परिसर में पहुंच जाएगी और तीन दिन इसकी तैयारियां करेगी। शोभायात्रा ज्योति प्रतिस्थापना के पश्चात महाआरती होगी, जिसके बाद मंदिर के गुंबद पर इस भव्य नजारे को देखा जा सकेगा।

मंदिर पीठाध्यक्ष सतपाल शर्मा ने बताया कि दुबई में नववर्ष पर हर साल बुर्ज खलीफा पर आतिशबाजी देखने के लिए हजारों की संख्या में भारतीय जाते हैं। उसी प्रकार नए साल पर इस तरह का आयोजन अब श्रीदेवीकूप मां भद्रकाली मंदिर में हर साल किया जाएगा। यह विक्रमी संवत के मुताबिक हिंदू नूतन वर्ष का पहला दिन हिंदुओं को गौरवान्वित कराने वाला दिन होता है, जिसे भव्य रूप से मनाया जाएगा।

मंदिर के 108 फुट ऊंचे मंदिर के गुंबद से कोरोना नियमों का पालन करते हुए रिमोट कंट्रोल से आतिशबाजी की जाएगी। इसे फेसबुक पर लाइव भी किया जाएगा। आतिशबाजी को मंदिर पार्किंग, मुख्य सड़क, सरोवर साइड या फेसबुक पेज पर देखा जा सकेगा। मां के गुंबद से आतिशबाजी में नहाए शिखर को शहर में दूर-दूर से देखा जा सकेगा। मंदिर परिसर में भक्तों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाएगा। ऊपरी परिक्रमा पर इस दौरान भक्तों का प्रवेश बंद रहेगा। श्रद्धालुओं को कोरोना नियमों के साथ ही प्रवेश दिया जाएगा।

Next Story