Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बर्ड फ्लू : मृत पक्षी मिलने पर दौड़ रहा सरकारी अमला, छूट रहा कर्मचारियों के पसीना

लोग पक्षियों को सुनसान जगह पर मृत देखकर इसकी सूचना जिला प्रशासन तक पहुंचा रहे हैं। जिसके चलते वन्य प्राणी विभाग तथा पशु पालन विभाग की टीमों को पोस्टमार्टम की प्रक्रिया करने के साथ-साथ सैंपलों को जालंधर लैबोरेटरी तक भिजवाना पड़ रहा है।

बर्ड फ्लू  : मृत पक्षी मिलने पर दौड़ रहा सरकारी अमला, छूट रहा कर्मचारियों के पसीना
X

एलआईसी के निकट हुडा ग्राउंड में मृत मिला कबूतर।

हरिभूमि न्यूज. जींद

बर्ड फ्लू के दौर में सुनसान जगहों पर मृत मिल रहे पक्षियों ने वन्य प्राणी विभाग तथा पशु पालन विभाग के पसीने छुडाए हुए है। लोग पक्षियों को सुनसान जगह पर मृत देखकर इसकी सूचना जिला प्रशासन तक पहुंचा रहे हैं। जिसके चलते वन्य प्राणी विभाग तथा पशु पालन विभाग की टीमों को पोस्टमार्टम की प्रक्रिया करने के साथ-साथ सैंपलों को जालंधर लैबोरेटरी तक भिजवाना पड़ रहा है। हालांकि जिले में अभी तक बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं है। पूर्व में गांव कलौदा कलां मृत मिले दस कौओं की रिपोर्ट निगेटिव रही है। जबकि गांव बहादुरगढ़ के निकट सुनसान जगह पर डाले गए मृत मुर्गों, कौए तथा गांव बुढाखेडा में मृत मिले कौओं की रिपोर्ट अभी तक पैंडिंग है।

एलआईसी के निकट मृत मिला कबूतर

एलआईसी के निकट हुडा ग्राउंड की खाली जगह पर सोमवार दोपहर को लोगों ने मरे हुए कबुतर को देखा। जिसके बाद मृत कबुतर की सूचना वन्य प्राणी विभाग के साथ-साथ पशु पालन विभाग तक भी पहुंची। यहां तक की मृत कबूतर मिलने को लेकर डीसी कार्यालय तक के फोन घनघना उठे। कबूतर के मृत मिलने की सूचना मिलने पर वन्य प्राणी विभाग के निरीक्षक मनबीर सिंह मौके पर पहुंचे और उन्होंने मृत कबूतर को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए पशु पालन विभाग भेज दिया। जिसके सैंपल लेकर जांच के लिए लैबोरेटरी भेजे जाएंगे। हालांकि कबूतर की टांग टूटी हुई थी और उसकी गर्दन पर किसी जीव के दांत भी लगे हुए थे। फिर भी संदेह के आधार पर पोस्टमार्टम की प्रक्रिया से लेकर सैंपल तक की कार्रवाई दोनों विभागों द्वारा की गई।

मरे मुर्गों व तीन कौओं की रिपोर्ट पैंडिंग, लुआस लैब से कम होगी दिक्कत

गांव बहादुरगढ़ के निकट सुनसान जगह पर डाले गए मरे हुए मुर्गे के साथ मृत मिले कौए तथा गांव बुढाखेड़ा में मृत मिले दो कौओं की सैंपल भेजे दस से 15 दिन हो चुके हैं। जालंधर लैबोरेटरी पर सैंपलों का दबाव ज्यादा होने के चलते अभी तक मृत मिले पक्षियों की रिपोर्ट विभाग को नहीं मिली है। सैंपल रिपोर्टो के दबाव को देखते हुए लुआस में लैब को तैयार किया गया है। जिसके द्वारा कार्य शुरू किए जाने पर सैंपलों को ले जाने में दिक्कत भी कम हो जाएगी ओर रिपोर्ट भी जल्दी मिलने लग जाएगी।

वन्य प्राणी विभाग के निरीक्षक मनबीर ने बताया कि कबूतर की टांग टूटी हुई थी और गर्दन पर दांत का निशान भी था। फिर भी गंभीरता से लेते हुए कबूतर का पोस्टमार्टम करवा सैंपलों को जांच के लिए जालंधर भेजा जा रहा है। प्रथम दृष्टि में बर्ड फ्लू का मामला नहीं है। ठंड या अन्य वजह कबूतर की मौत के पीछे हो सकते हैं।

पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डा. रविंद्र हुड्डा ने बताया कि दस मृत कौओं की पूर्व में रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। बाद में मृत मिले कौओं की सैंपल रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लुआस हिसार में सैंपल जांचने के लिए लैब तैयार हो चुकी है। जिसके शुरू होने के साथ जालंधर के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी और रिपोर्ट भी जल्द मिल जाएंगी।

Next Story