Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकारी स्कूल बना मॉडल, स्मार्ट हुई क्लॉसेज

अब शहर का यह सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से मुकाबला करने के लिए पूरी तरह तैयार नजर आ रहा है। स्कूल प्रधानाचार्य से लेकर स्टॉफ तक स्टूडेंट्स की संख्या में वृद्धि की उम्मीद लगाए हैं।

सरकारी स्कूल बना मॉडल, स्मार्ट हुई क्लॉसेज
X

बहादुरगढ़ : सरकारी स्कूल में बने स्मार्ट क्लॉस रूम का नजारा।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

शहर के रेलवे रोड पर स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अब राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बन चुका है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से मान्यता मिलने के बाद अब यहां बच्चे अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाई करेंगे। दो क्लॉस रूम स्मार्ट बन चुके हैं और लैब भी डिजीटल हो गई है। ऐसे में अब शहर का यह सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से मुकाबला करने के लिए पूरी तरह तैयार नजर आ रहा है। स्कूल प्रधानाचार्य से लेकर स्टॉफ तक स्टूडेंट्स की संख्या में वृद्धि की उम्मीद लगाए हैं।

बता दें कि हरियाणा के सभी 136 खंड से एक-एक सरकारी स्कूल को मॉडल संस्कृति स्कूल में तब्दील करते हुए सीबीएसई से मान्यता ली गई है। शहर के वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में इस नए सत्र से सीबीएसई बोर्ड की पढ़ाई अंग्रेजी माध्यम से करवाई जाएगी। इसके लिए कवायद तेज हो चुकी है। वर्तमान में इस स्कूल में छठी कक्षा से 12वीं तक 1036 बच्चे हैं। मॉडल स्कूल बनते ही 50 कमरों की डिमांड के साथ नए भवन का प्लान बनाकर सरकार को भेजा गया है। अन्य आधारभूत संसाधनों की मांग भी सरकार से की गई है। फिलहाल दो स्मार्ट कक्षाएं तैयार हो चुकी हैं। डिजिटल लैब तैयार की जा चुकी है। इस शैक्षणिक सत्र से अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। हालांकि अभी अभिभावकों के पास सीबीएसई के अलावा हरियाणा बोर्ड में दाखिला करवाने का विकल्प भी रहेगा। हिंदी माध्यम के विद्यार्थियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। वहीं अंग्रेजी माध्यम में फीस के लिए मासिक शेड्यूल भी निर्धारित कर दिया गया है। छठी से आठवीं तक के बच्चों से 300 रुपए, 9वीं-10वीं के स्टूडेंट्स से 400 रुपए और 11-12वीं के विद्यार्थियों से 500 रुपए मासिक फीस वसूली जाएगी। जबकि एडमिशन फीस एकबार के लिए एक हजार रुपए ली जाएगी। यह फीस भी स्कूल के विकास पर ही खर्च होगी। इसके अलावा स्पेशल (डिसेबल) बच्चों के लिए वीटा का बूथ खुलेगा, उसकी आय उन बच्चों पर ही लगेगी।

राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूल बहादुरगढ़ को सीबीएसई से मान्यता मिल चुकी है। इस सत्र से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। स्मार्ट क्लॉस रूम और डिजिटल लैब भी तैयार हो चुकी हैं। जो विद्यार्थियों से फीस ली जाएगी, उन्हें स्कूल के रखरखाव पर खर्च किया जाएगा। स्कूल की स्ट्रैंथ दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए लोगों तक जनकारी पहुंचाएंगे। - सुरेश चंद्र सैनी, प्रधानाचार्य

Next Story