Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी : डीसीआरयूएसटी करेगी आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के साथ एमओयू

एमओयू होने के बाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर कंपनियों में ट्रेनिंग करने का अवसर मिलेगा। श्रेष्ठ कंपनियों में ट्रेनिंग करने का लाभ विद्यार्थियों को प्लेमसमेट के समय मिलेगा।

विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी : डीसीआरयूएसटी करेगी आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के साथ एमओयू
X

 डीसीआरयूएसटी में फेडरेशन के अध्यक्ष के साथ कुलपति।

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

दीनबंधु छोटू राम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (DCRUST) मुरथल जल्द ही आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के साथ एमओयू करेगा। एमओयू से विद्यार्थियों को बेहतर प्लेसमेंट के अवसर मिलेगें। आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के अध्यक्ष प्रो. कमल चोपड़ा ने डीसीआरयूएसटी का दौरा किया। डीसीआरयूएसटी अब प्रिटिंग के क्षेत्र में जल्द ही एमओयू करेगी। विश्वविद्यालय आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के साथ एमओयू करेगा।

एमओयू होने के बाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर कंपनियों में ट्रेनिंग करने का अवसर मिलेगा। श्रेष्ठ कंपनियों में ट्रेनिंग करने का लाभ विद्यार्थियों को प्लेमसमेट के समय मिलेगा। बेहतरीन कंपनियों में प्लेसमेंट के कारण विद्यार्थियों को अच्छा पैकेज मिलेगा। आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी कार्य कर रही है, इसका लाभ भी डीसीआरयूएसटी को मिलेगा। आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के माध्यम से डीसीआरयूएसटी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विश्वविद्यालयों के साथ एमओयू करेगी।

आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के अध्यक्ष प्रो.कमल चोपड़ा ने डीसीआरयूएसटी का दौरा किया, इस दौरान उनके साथ आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के उत्तर क्षेत्र के अध्यक्ष अश्वनी गुप्ता भी थे। आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर के अध्यक्ष प्रो.चोपड़ा ने कुलपति प्रो. अनायत के साथ विचारों का आदान प्रदान किया।

कुलपति प्रो. अनायत ने विश्वविद्यालय की गतिविधियों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। बैठक के दौरान तय हुआ कि आल इंडिया फेडरेशन आफ मास्टर प्रिंटर व डीसीआरयूएसटी जल्द ही एक एमओयू पर हस्ताक्षर करेगें। प्रो.चोपड़ा विश्वविद्यालय कोर्ट के सदस्य भी हैं। कुलपति प्रो. राजेंद्रकुमार अनायत ने प्रो. चोपड़ा को विश्वविद्यालय की तरफ से स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

Next Story