Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

35 हजार रुपये लेकर करते थे भ्रूण लिंग जांच, तीन गिरफ्तार

करनाल सीएमओ को गुप्त सूचना मिली थी कि कुरुक्षेत्र में कोई व्यक्ति गर्भ में भ्रूण लिंग जांच करता है। पुलिस ने कार व अल्ट्रासाउंड मशीन को भी कब्जे में लिया है।

35 हजार रुपये लेकर करते थे भ्रूण लिंग जांच, तीन गिरफ्तार
X

आरोपितों के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम।

हरिभूमि न्यूज. कुरुक्षेत्र

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भ्रूण लिंग जांच करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए थाना सदर पुलिस की मदद से गिरोह के तीन सदस्यों को काबू किया है जबकि गिरोह का एक सदस्य टीम को चकमा देकर फरार हो गया।

पुलिस ने कार व अल्ट्रासाउंड मशीन को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। पीएनडीटी कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डिप्टी सिविल सर्जन डा. आरके सहाय ने बताया कि करनाल सीएमओ को गुप्त सूचना मिली थी कि कुरुक्षेत्र में कोई व्यक्ति गर्भ में भ्रूण लिंग जांच करता है। स्वास्थ्य विभाग ने डिकोय की पहचान एक दलाल से कराई, जिसके बाद दलाल ने डिकोय को मंगलवार को पिपली चौक पर आने के लिए कहा। इसकी एवज में 35 हजार रुपये मांगे। करनाल स्वास्थ्य विभाग टीम ने इसकी सूचना कुरुक्षेत्र जिला सिविल सर्जन डा. सुखबीर सिंह को दी। डा. सुखबीर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की टीम गठित की। टीम दोपहर को डिकोय के साथ पिपली पहुंच गई।

डिकोय पिपली चौक पर दलाल का इंतजार करने लगा और टीम थोड़ी दूरी पर मौजूद रही। थोड़ी देर में दलाल सूबे सिंह डिकोय को अपने साथ ले जाने के लिए पहुंचा। यहीं पर उसने 35 हजार रुपये नकद ले लिए। सूबे सिंह डिकोय को मोटरसाइकिल पर बैठाकर सेक्टर तीन के एक घर में ले गया। जहां उसका अल्ट्रासाउंड किया गया और उसे लड़का होने की बात कही। इसके बाद दलाल सूबे सिंह उसे वापस लाडवा रोड पर निमंत्रण पैलेस के पास छोडऩे आया। जहां स्वास्थ्य विभाग व पुलिस ने उसे दबोच लिया। सूबे सिंह ने पैसे का लेन-देन करने के लिए अल्ट्रासाउंड करने वाले मुख्य आरोपित अंबाला निवासी सोनू बजाज को भी निमंत्रण पैलेस के पास बुला लिया। सोनू के साथ एक निजी अस्पताल का एंबुलेंस चालक सुखदेव व जितेंद्र भी थे। पुलिस ने जैसे ही सोनू को दबोचा सुखदेव वहां से फरार हो गया। पुलिस ने सूबे सिंह, सोनू बजाज व सुखदेव को काबू कर लिया है।

Next Story