Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लापरवाही : नागरिक अस्पताल के शौचालय में दिया बच्चे को जन्म

परिजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि पहले वे रेखा को रात करीब ढाई बजे कानौंदा पीएचसी में ले गए थे। वहां काफी देर तक खड़े रहे लेकिन पीएचसी का दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद सुबह चार बजे रेखा को नागरिक अस्पताल में लाया गया। यहां उसे भर्ती तो कर लिया गया लेकिन कोई खास ख्याल नहीं रखा गया।

लापरवाही : नागरिक अस्पताल के शौचालय में दिया बच्चे को जन्म
X

बहादुरगढ़ : अस्पताल परिसर में बैठे रेखा के परिजन।

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

शहर के नागरिक अस्पताल में एक महिला ने शौचालय में शिशु को जन्म दे दिया। इस घटना पर परिजनों ने नाराजगी जताई और स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उधर, स्वास्थ्य अधिकारियों ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है। बच्चा और जच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

जानकारी के अनुसार, आसौदा के निवासी संजय ने अपनी पत्नी रेखा को वीरवार की अल सुबह नागरिक अस्पताल में डिलीवरी के लिए भर्ती कराया था। सुबह करीब दस बजे जब सास रामरती लघुशंका के लिए शौचालय में ले गई तो उसे दर्द काफी बढ़ गया और वहीं पर उसने शिशु को जन्म दे दिया। उसे लड़का हुआ है। शौचालय में डिलीवरी होने की सूचना पर स्टाफ में हड़कंप मच गया। इसके बाद जच्चा और बच्चा को संभाला गया। घटना से परिजनों में भी रोष पनप गया।

परिजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि पहले वे रेखा को रात करीब ढाई बजे कानौंदा पीएचसी में ले गए थे। वहां काफी देर तक खड़े रहे लेकिन पीएचसी का दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद सुबह चार बजे रेखा को नागरिक अस्पताल में लाया गया। यहां उसे भर्ती तो कर लिया गया लेकिन कोई खास ख्याल नहीं रखा गया। इसी लापरवाही के कारण डिलीवरी बाथरूम में हो गई। हैरानी की बात ये कि डिलीवरी के बाद काफी देर तक बच्चा फर्श पर रहा। गनीमत रही कि जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ है।

परिजनों के अनुसार स्टाफ ने पूरी तरह से लापरवाही बरती है। उधर, नागरिक अस्पताल की एसएमओ डॉ. सुमन ने कहा है कि जब महिला को भर्ती कराया गया, तब जांच की गई थी। सुबह सात बजे भी जांच की गई। जब स्टाफ काम में व्यस्त था तो शायद परिजन उसे शौचालय ले गए। जिस कारण घटना हो गई। फिलहाल महिला और शिशु दोनों स्वस्थ हैं। लापरवाही के आरोप बेबुनियाद हैं।

Next Story