Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना महामारी में गौरक्षा दल बना बेजुवान पशुओं के लिए मददगार

लॉकडाउन और कोरोना के कारण लोग एक बार फिर से अपने घरों में रहकर अपने आप की सुरक्षा कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में गरीबों को भोजन तथा बेजुबान पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाने के लिए गौरक्षा दल के सेवादारों ने अपने हाथ आगे बढ़ाए है।

कोरोना महामारी में गौरक्षा दल बना बेजुवान पशुओं के लिए मददगार
X

बेजुबान पशुओं को हरा चारा खिलाते हुए गौरक्षा दल के सदस्य।

हरिभूमि न्यूज. फतेहाबाद (टोहाना)

हरियाणा सरकार (Haryana Government) द्वारा कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते एक सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया है, जिसके कारण लोग एक बार फिर से अपने घरों में रहकर अपने आप की सुरक्षा कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में गरीबों को भोजन तथा बेजुबान पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाने के लिए गौ रक्षा दल के सेवादारों ने अपने हाथ आगे बढ़ाए है।

दल के सदस्य जिलाध्यक्ष नवजोत ढिल्लों के नेतृत्व में इस संकट की घड़ी में बेजुबान पशुओं के लिए चारा, कुत्तों के लिए रोटी और बंदरों के लिए केले की व्यवस्था कर रहे हैं। इसकी शुरुआत दल के सदस्यों ने चंडीगढ़ रोड, रेलवे पुल के नीचे, हिसार रोड, रतिया रोड, दमकोरा रोड आदि विभिन्न स्थानों पर शुरू कर दी है। गौ रक्षा दल के जिलाध्यक्ष नवजोत सिंह ढिल्लों ने बताया कि लॉकडाउन में जब लोग अपने-अपने घरों में बंद हो जाते है, तब यह बेजुबान व बेसहारा पशु तथा गौवंश आदि भूखे सड़कों पर अपनी भूख मिटाने के लिए धूप-गर्मी में भोजन के लिए मारे-मारे घूमते है।

उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष भी कोरोना महामारी के चलते शहरवासियों के सहयोग से गौरक्षा दल ने हरे चारे तथा भोजन की व्यवस्था की थी। इस बार भी दल के सदस्यों ने यह सेवा फिर से शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि यह सेवा जब तक लॉकडाउन पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता, तब तक सुबह-शाम गौरक्षा दल द्वारा यह सेवा निरंतर जारी रहेगी। इस सेवा में तुषार, सतीश, विक्रम, सुमित, नीरज नापा, प्रताप खोबड़ा, रमनदीप, मूल, सोनू, कुलवीर, कुलदीप, दीपक सैनी आदि अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।


Next Story