Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भिवानी : खरक कलां में पाइपलाइन के जरिए रसोई तक पहुंचेगी गैस

फिलहाल इस गैस का कनेक्शन (Gas Connection) गोशाला को दिया गया है। इसके दूसरे चरण में प्रोजेक्ट (Project) का विस्तार किया जाएगा और ग्रामीणों को सस्ती दरों पर गैस उपलब्ध करवाई जाएगी। अगर गांव में गैस वितरण करने में गोशाला को सफलता मिल गई तो उसके बाद गांव के अन्य मोहल्लों व इलाकों में गैस कनेक्शन जारी किए जाएंगे।

भिवानी : खरक कलां में पाइपलाइन के जरिए रसोई तक पहुंचेगी गैस
X

गांव खरक स्थित गोशाला में स्थापित किए गए गोबर गैस प्लांट का निरीक्षण करते जिला परिषद के सीईओ प्रदीप कौशिक।

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव खरक कलां की गोशाला में 85 क्यूबिक साइज का बॉयोगैस प्लांट (Biogas Plant) लगाया गया है, जिसकी अतिरिक्त गैस पाइप लाइन के माध्यम से गांव खरक कलां में ग्रामीणों (Villagers) को दी जाएगी। इस गैस से प्रतिदिन 40 परिवारों तक आपूर्ति की जा सकेगी। इस गैस का कनेक्शन (Gas connection) बस स्टैंड के आसपास देने की योजना बनाई गई है।

फिलहाल इस गैस का कनेक्शन गोशाला को दिया गया है। इसके दूसरे चरण में प्रोजेक्ट का विस्तार किया जाएगा और ग्रामीणों को सस्ती दरों पर गैस उपलब्ध करवाई जाएगी। अगर गांव में गैस वितरण करने में गोशाला को सफलता मिल गई तो उसके बाद गांव के अन्य मोहल्लों व इलाकों में गैस कनेक्शन जारी किए जाएंगे। जिला परिषद के सीईओ प्रदीप कौशिक गांव खरक कलां स्थित गोशाला में पहुंचे और बॉयोगैस प्लांट का निरीक्षण किया।

गोशाला में तैयार होगी जैविक खाद

गांव खरक कलां में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत बॉयोगैस प्लांट लगाया गया है। इस बॉयोगैस परियोजना से बेहतर जैविक खाद तैयार बनेगी। गोबर से तैयार होने वाली जैविक खाद से भूमि की उपजाऊ शक्ति बढने में मदद मिलेगी। इस परियोजना को आत्म निर्भर प्रोजेक्ट बनाने के लिए प्रयास किए जाएंगें। ताकि उत्पादित गैस व जैविक खाद से आय अर्जन कर सके तथा जिससे प्रोजेक्ट के रखरखाव सुनिश्चित हो सके। इस बॉयोगैस प्लांट से प्रतिदिन 2.5 गैस सिलेंडर जितनी गैस पैदा होगी।

पंचायत करें बायोगैस प्लांट के लिए आवेदन

जिला परिषद और डीआरडीए के सीईओ ने ग्रामीणों को जानकारी देते हुए बताया कि जिला में अनेक गोशालाएं और नंदीशाला हैं,जहां काफी संख्या में मवेशी हैं। इस परियोजना से न सिर्फ सफाई सुनिश्चित होगी, बल्कि किसानों, पशुपालकों व अन्य को आय बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। जो भी ग्राम पंचायत बॉयोगैस प्लांट लगवाना चाहता है, वह पंचायत का प्रस्ताव पास कर डीआरडीए, भिवानी को आवेदन कर सकता है। कोई भी ग्राम पंचायत नवीन व नवीकरणीय अक्षय ऊर्जा विभाग,द्वारा मवेशियों की संख्या अनुसार 25 से 85 क्यूबिक मीटर साइज का बॉयोगैस प्लांट लगवा सकता है। जिसके निर्माण पर बॉयोगैस प्लांट के साइज अनुसार 3.50 से 11.50 लाख रुपये अनुमानित खर्च आता है। नवीन व नवीकरणीय अक्षय ऊर्जा विभाग द्वारा बॉयोगैस प्लांट के साइज अनुसार 1.27 लाख से 3.95 लाख रुपये अनुदान दिया जाता है। यह स्कीम गोबर के उचित निपटान कर गैस व खाद उत्पादन कर आय बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण स्कीम है। ग्राम पंचायत ने आवेदन के बॉयोगैस के साइज अनुसार साथ 30 हजार रुपये से 50 हजार रुपये सिक्योरिटी राशि जमा करवानी होगी।

और पढ़ें
Next Story