Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर चल रहा रॉयल्टी के फर्जी नाके लगाकर अवैध वसूली का खेल

राजस्थान के नांगल से क्रेशर, रोड़ी, पत्थर लेकर आने वाले वाहनों से फर्जी नाकों पर अवैध वसूली की जा रही है। जबकि हरियाणा में रॉयल्टी के नाम पर किसी भी तरह का नाका लगाना गैर कानूनी है।

हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर चल रहा रॉयल्टी के फर्जी नाके लगाकर अवैध वसूली का खेल
X

अवैध वसूली की पर्ची।

हरिभूमि न्यूज : नूंह

हरियाणा सीमा में रॉयल्टी के फर्जी नाके लगाकर अवैध वसूली का खेल जोरों से चल रहा है। जिले के पुन्हाना थाना अंतर्गत तिगांव, सिरसबास, बडेड और नीमखेडा (बूढाका बास) सहित रॉयल्टी के फर्जी नाके लगाकर राजस्थान के नांगल से क्रेशर, रोड़ी, पत्थर लेकर आने वाले वाहनों से फर्जी नाकों पर अवैध वसूली का खेल चल रहा है। जबकि हरियाणा में रॉयल्टी के नाम पर किसी भी तरह का नाका लगाना गैर कानूनी है।

सूत्रों के अनुसार इन नाकों पर बैठे लोगों को धोलेट गांव के एक व्यक्ति ने फर्जी बुक दे रही रखी हैं और हरियाणा में लगे नाकों पर चहेते लोगों को बैठाया हुआ है। जो राजस्थान के नांगल से आने वाले वाहनों को चैक करते हैं, और राजस्थान सीमा की रॉयल्टी पर्ची न होने पर अपनी पर्ची काटते हैं। बताया जाता है कि हरियाणा सीमा में नाके लगाने वाले लोग राजस्थान के रॉयल्टी वर्करों से मिले हुए होते हैं। यहां पर ये खेल पिछले कई महीनों से चल रहा है, लेकिन नूंह जिले के पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन को इसकी खबर तक नहीं है। सूत्रों की मानें तो तिगांव में तीन जगह फर्जी नाके लगे हुए हैं, इसके अलावा सिरसबास, बडेड और नीमखेडा में भी नाके लगे हुए हैं। जो बेखोफ तरीके से अवैध वसूली कर रहे हैं।

बता दें कि हरियाणा में अवैध खनन पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगा हुआ है। लेकिन इसके बावजूद भी हरियाणा सीमा में चोर रास्ते चालू हैं। जिनके माध्यम से राजस्थान के नांगल से के्रशर, रोडी व पत्थर आदि क्रेशर प्लांटों पर पहुंचाया जाता है। माइनिंग व वन विभाग के इन चोर रास्तों पर रॉयल्टी के नाम पर प्रतिदिन लाखों रुपये की अवैध वसूली की जा रही है। इस बारे में जब पुन्हाना डीएसपी शमशेर सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामले की जल्द जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story