Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नगर निकायों में नहीं चलेगी फरलो, लंबित फाइलों का रखना होगा हिसाब

सभी नगर निगमों, नप, नगर पालिकाओं में आने वाली सभी फाइलों का रखा जाएगा हिसाब, अलग से होगी एक व्यक्ति की ड्यूटी कंप्यूटराइज्ड एंट्री और बाकी ब्योरा भी होगा

Anil Vij
X

 मंत्री अनिल विज

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

हरियाणा के सभी नगर निकायों में कामकाज को ज्यादा पारदर्शी बनाने और बिना वजह फाइलों को लटकाने वालों पर बंदिश लगाने के निर्देश जारी करते हुए प्रदेश के शहरी निकाय मंत्री अनिल विज ने निकायों में आने वाली फाइलों का ब्योरा रखने के लिए अलग से एक कर्मचारी की तैनाती करने और सारा रिकार्ड कंप्यूटराइज्ड रखने के निर्देश जारी कर दिए हैं। इतना ही नहीं आफिस टाइम में बिना वजह फरलो मारने, गायब रहने वालों पर भी शिकंजा कसने जा रहा है, क्योंकि हर आफिस में मूवमेंट रजिस्टर में एंट्री करने व कारण बताने के बाद ही बाहर जाया जा सकेगा।

गत दिवस गुरुग्राम नगर निगम को लेकर पार्षदों, विधायकों द्वारा शिकायतें मिलने के बाद छापेमारी के बाद में सात लोगों पर बड़ी कार्रवाई करने वाले अनिल विज अब प्रदेश के सभी नगर निगमों के कार्यालयों, नगर परिषद व नगर पालिका में पूरी तरह से पारदर्शी और जवाबदेही वाली व्यवस्था चाहते हैं, इसलिए उन्होंने फाइलों को लेकर भी हर निकाय के अंदर कंप्यूटर और बाकी सामान सहित एक कर्मचारी की ड्यूटी लगाने का आदेश जारी कर दिया है। उक्त कर्मचारी दफ्तर के अंदर आने वाली फाइलों का पूरा ब्योरा रखेगा, जिसमें तारीख, फाइलों के विषय के साथ-साथ बाकी जानकारी भी होगी ताकि बाद में इस संदर्भ में चेक करने पर पूरी तरह से साफ हो सके कि उक्त फाइल कब आयी व किस कर्मचारी अथवा अधिकारी के पास में कब से लंबित है। फाइलों के लंबित रखने वालों को इसमें देरी के लिए जवाब भी देना होगा।

दफ्तर टाइम में गायब रहने वालों की खैर नहीं

प्रदेश के शहरी निकाय मंत्री अनिल विज का कहना है कि हमने निकायों में बेहतर पारदर्शी व्यवस्था बनाने के लिए सभी दफ्तरों में मूवमेंट रजिस्टर लगाने के निर्देश जारी किए हैं, जिसमें आफिस टाइम में दफ्तर छोड़ने का कारण जाने और आने का वक्त लिखना होगा। इतना ही नहीं चेकिंग के दौरान उक्त कर्मचारी द्वारा गलत सूचना दिए जाने की सूरत में भेजने वाले जिम्मेदार अधिकारी पर भी शिकंजा कसा जाएगा। विज ने मंगलवार को इस संबंध में अफसरों के साथ में इस पर मंथन के बाद जारी निर्देशों की पुष्टि कर दी ।

जनप्रतिनिधियों की बात नहीं सुनने वाले नपेंगे : विज

प्रदेश के शहरी निकाय मंत्री ने साफ कर दिया है कि पार्षदों, नगर निकायों में आने वाले पार्षदों, विधायकों और बाकी प्रतिनिधियों की बात नहीं सुनने वाले, काम को बिना बड़े कारण के लंबित रखने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। मंत्री अनिल विज ने कहा कि जनता को राहत देने के लिए हम लगातार कदम उठा रहे हैं। इसी क्रम में सभी को लंबित फाइलों, मूवमेंट सहित कईं विषयों के बारे में व्यवस्था बनाने के आदेश दिए हैें।

Next Story