Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुबह पांच बजे से रात 12 बजे तक 'अवसर एप' पर दे सकेंगे परीक्षा, 26 मार्च से तीसरी से आठवीं कक्षा तक की परीक्षाएं होंगी शुरू

शिक्षा विभाग ने भेजे निर्देशों में कहा है कि तीसरी कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए सुबह पांच बजे पोर्टल को खोल दिया जाएगा। पोर्टल रात 12 बजे बंद किया जाएगा। इस दौरान बच्चे किसी भी वक्त अपनी क्लास का प्रशनपत्र डाऊनलोड करके हल कर सकेगा।

school
X

भिवानी : स्कूल (फाइल फोटो)

हरिभूमि न्यूज : भिवानी

शिक्षा विभाग ने तीसरी से आठवीं कक्षा तक की परीक्षा 26 मार्च से कराए जाने का ऐलान कर दिया है। पहली व दूसरी कक्षा को छोड़कर बाकी तीसरी से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों की परीक्षा ऑनलाइन अवसर एप के माध्यम से कराई जाएगी। शिक्षा विभाग ने बच्चों को उक्त परीक्षा कराए जाने का समय सुबह पांच बजे लेकर रात 12 बजे तक का समय दिया है। उक्त परीक्षा आनलाइन अवसर एप पर ही हो सकेगी। इस वक्त सर्वर बिजी नहीं होता और बच्चे का दिमाग भी फ्रेश होता है।

शिक्षा विभाग ने भेजे निर्देशों में कहा है कि तीसरी कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए सुबह पांच बजे पोर्टल को खोल दिया जाएगा। पोर्टल रात 12 बजे बंद किया जाएगा। इस दौरान बच्चे किसी भी वक्त अपनी क्लास का प्रशनपत्र डाऊनलोड करके हल कर सकेगा। इससे पूर्व प्रत्येक बच्चे को अपना मोबाइल फोन पर असवर ऐप को अपडेट करना होगा। अगर इसमें कोई त्रुटि रह गई तो वह बच्चा परीक्षा देने से वंचित रह जाएगा। इस बारे में शिक्षा विभाग ने सभी स्कूल शिक्षकों भी इस बारे में निर्देश जारी किए है।

एक भी प्रश्न छोड़ा तो नहीं हो पाएगा पेपर सबमिट

भेजे निर्देशों में कहा गया है कि तीसरी कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चे के लिए 30.30 प्रशन दिए जाएंगे। जो कि वस्तुनिष्ठ प्रशन होंगे। जिनको हल करने का समय 19 घंटे का होगा। साथ ही विभाग ने स्पष्ट किया है कि अगर किसी बच्चे ने प्रशन.पत्र में दिए गए प्रशनों में से एक भी प्रशन छोड़ दिया तो उस बच्चे का पेपर सबमिट नहीं होगा। ठीक हो या गलत बच्चे को सभी प्रशनों का जवाब देना होगा। सभी सवाल हल करने के बाद ही पेपर सबमिट हो पाएगा।

पहली व दूसरी की परीक्षा होगी ऑफलाइन

शिक्षा विभाग ने तीसरी से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों की परीक्षा अवसर एप पर ऑनलाइन कराए जाने तथा पहली व दूसरी कक्षा के बच्चों की परीक्षा ऑफ लाइन कराने का फैसला लिया है। इन दोनों कक्षाओं के बच्चों का पेपर 30 अंक का होगा। सभी प्रशनों के जवाब मौखिक तौर पर ही पूछे जाएंगे और जवाब भी मौखिक तौर पर ही दिया जाएगा,लेकिन बच्चों को क्लास में पहुंचना होगा। साथ ही विभाग ने स्पष्ट कर दिया कि अभिभावकों की सहमति के बाद ही पहली व दूसरी कक्षा के बच्चों को स्कूल में बुलाया जाए। अगर अभिभावक सहमति नहीं जताते तो वे बच्चों से मोबाइल फोन या फोन पर कॉल करके प्रशन पूछ सकते है।

तीसरी व चौथी कक्षा का अंग्रेजी विषय की परीक्षा कराए जाने का फैसला लिया

शिक्षा विभाग ने 26 मार्च को तीसरी व चौथी कक्षा का अंग्रेजी विषय की परीक्षा कराए जाने का फैसला लिया है। इसी तरह 27 मार्च को पांचवीं का अंग्रेजी तथा छठी कक्षा का गणित, 30 मार्च को सातवीं व आठवीं कक्षा का गणित, एक अप्रैल को तीसरी व चौथी का हिंदी विषय, दो अप्रैल को पांचवीं का गणित तथा छठी कक्षा का विज्ञान, तीन अप्रैल को सातवीं व आठवीं कक्षा का विज्ञान, पांच अप्रैल को तीसरी व चौथी कक्षा का गणित, छह अप्रैल को पांचवीं व छठी कक्षा हिंदी, सात अप्रैल को सातवीं व आठवीं कक्षा का हिंदी, आठ अप्रैल को तीसरी व चौथी कक्षा का ईवीएस, नौ अप्रैल को पांचवीं का ईवीएस तथा छठी कक्षा का एसएसटी,12 अप्रैल को सातवीं व आठवीं कक्षा एसएसटी विषय, 13 अप्रैल को छठी अंग्रेजी, 15 अप्रैल को सातवीं व आठवीं कक्षा का अंग्रेजी विषय की परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन होगा।

Next Story