Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मां की हत्या करने के आरोपी कांस्टेबल पिता के खिलाफ चार साल के बेटे ने दिया बयान

16 अप्रैल 2020 में हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहने वाले हरियाणा पुलिस में कार्यरत सिपाही विक्रम नेअपनी पत्नी रिंकू की हत्या कर दी थी। घटना के समय उसकी पोस्टिंग जींद डीएसपी कप्तान सिंह के गनमैन के तौर पर थी।

Gopalganj Rape murder case Court  hearing death penalty to rapist of 9 year old girl
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिसार। हाउसिंग बोर्ड कालोनी में जींद के डीएसपी के गनमैन विक्रम द्वारा 16 अप्रैल 2020 में अपनी पत्नी रिंकू की हत्या के मामले में बृहस्पतिवार को अदालत में स्टेटस रिपोर्ट पेश की गई। मामले की दोबारा जांच कर रहे डीएसपी अभिमन्यु लोहान ने आरोपित पुलिस कांस्टेबल विक्रम से पांच दिन के रिमांड में की गई पूछताछ का ब्योरा अदालत में सामने रहते हुए बताया कि आरोपित विक्रम को पुलिस की जांच प्रक्रिया का ज्ञान है। इसके चलते वह पुलिस से जांच में सहयोग नहीं कर रहा। वह पूछताछ में पुलिस को गुमराह कर रहा है। अदालत को बताया गया कि आरोपित ने पांच दिन रिमांड के बाद भी वारदात में प्रयोग की गई पिस्तौल बरामद नहीं करवाई। दूसरी तरफ पुलिस ने आरोपित के साढ़े चार साल के बेटे को चश्मदीद गवाह बनाते हुए उसके अदालत में बयान दर्ज करवाए हैं।

डीएसपी ने स्टेटस रिपोर्ट में बताया कि आरोपित विक्रम यही कहता रहा कि उसने लकड़ी के सोटे से ही अपनी पत्नी की हत्या की और पिस्तौल का जिक्र तक नहीं किया। इस दौरान उसने पिस्तौल बरामद भी नहीं करवाई। हालांकि आरोपित के पिता जसबीर के पास लाइसेंसी पिस्तौल होने का पता चला लेकिन वह 18 मार्च, 2019 से तोशाम थाना में जमा है। इसके बाद आरोपित का नार्को टेस्ट करवाने के लिए आवेदन किया और आरोपित ने इसके लिए अपनी सहमति दे दी है। अब गुजरात के गांधीनगर स्थित फोरेंसिक साइंस निदेशालय से पत्राचार किया जा रहा है और अनुमति मिलने पर शीघ्र ही आरोपी का नार्को टेस्ट करवाया जाएगा।

क्या था मामला

16 अप्रैल 2020 में हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहने वाले हरियाणा पुलिस में कार्यरत सिपाही एवं मूल रूप से भिवानी जिले के गांव देवास निवासी विक्रम ने अपनी पत्नी रिंकू की हत्या कर दी थी। घटना के समय उसकी पोस्टिंग जींद डीएसपी कप्तान सिंह के गनमैन के तौर पर थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर 13 जुलाई 2020 को अदालत में चार्जशीट जमा कर दी थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण गन शॉट

चार्जशीट पर बहस के दौरान 6 फरवरी 2021 को शिकायतकर्ता के वकील ने अदालत को बताया कि सिपाही की पत्नी रिंकू की मौत का कारण गन शॉट था, जबकि पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में इसे सोटे से की गई हत्या बताया था। इस पर अदालत ने पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट तलब की थी। डीएसपी अभिमन्यु को दोबारा जांच करने के आदेश दिए तो उन्होंने मामले में शस्त्र अधिनियम की धारा और जोड़ी दी। गत 9 फरवरी को पुलिस ने माना कि हत्या की इस जांच को गलत दिशा में ले जाया गया था जिसके लिए तत्कालीन थाना प्रभारी व चौकी प्रभारी को दोषी भी माना। इस रिपोर्ट के आधार पर एसपी ने दोनों कर्मचारियों को शो-कॉज नोटिस जारी किया गया था। साथ ही दोनों की 5-5 वेतनवृद्धियां रोकने के संबंध में 15 दिन में जवाब दाखिल करने को कहा गया था। पुलिस ने 22 फरवरी, 2021 को अदालत से आरोपित पुलिस कर्मचारी विक्रम को फिर से पांच दिन के रिमांड पर लिया।


Next Story