Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महेंद्रगढ़ : वन विभाग अधिकारी बोले, अतिक्रमण बंद करने को कहा तो डंडों से पीटा और तौलिये का फंदा डालकर खींचा

वन विभाग (Forest Department) अधिकारियों का सामना विभागीय जमीन (Land) पर कब्जाधारियों(Occupiers) से हो गया। अतिक्रमण रोकने को कहा तो आरोपितों ने लाठी व डंडों से हमला (Attack with sticks) बोल दिया। सरपंच सहित अन्य लोगों पर अधिकारी के गले में फंदा (Noose) डालकर खींचने का आरोप है।

महेंद्रगढ़ : वन विभाग अधिकारी बोले, अतिक्रमण बंद करने को कहा तो डंडों से पीटा और तौलिये का फंदा डालकर खींचा
X
नांगल चौधरी। सीएचसी में घायल अधिकारियों के बयान लेते थाना इंचार्ज राजकरण।

नांगल चौधरी। बहरोड़ रोड पर पौधों का निरीक्षण कर रहे अधिकारियों का सामना बुधवार को वन विभाग (Forest Department) की जमीन (Land) पर अतिक्रमण (Encroachment) कर रहे लोगों से हो गया। अतिक्रमण बंद करने के निर्देश देते ही आरोपित भड़क गए और उन्होंने लाठी व डंडों से हमला (Attack with sticks) बोल दिया। सरपंच व दो अन्य लोगों पर अधिकारी के गले में फंदा (Noose) डालकर खींचने के आरोप हैं। राहगीरों द्वारा बचाव करने पर जानलेवा हादसा टल गया।

फोरेस्ट विभाग द्वारा गांव नायन क्षेत्र के आसपास पौधरोपण किया गया है। विभागीय निर्देशानुसार रेंज अधिकारी रजनीश यादव, डिप्टी रेंजर चंद्रगुप्त अन्य कर्मचारियों के साथ पौधों को जांच कर रहे थे। कालबा गांव के पास उन्हें विभाग की जमीन पर कुछ लोग अतिक्रमण करते हुए दिखाई दिए। उन्होंने विभाग की जमीन से छेड़छाड़ नहीं करने की हिदायत दी। किंतु आरोपित सरपंच व अन्य लोगों ने उल्टा अधिकारियों को डांटना आरंभ कर दिया। कार्रवाई की चेतावनी पर अतिक्रमणकारी लोग आग-बबुला हो गए तथा लाठी-डंडों से हमला बोल दिया। सरपंच व दूसरे लोगों ने तौलिया का फंदा बनाकर रेंज अधिकारी के गले में डाल दिया और दोनों तरफ से छोर पकड़कर खींचने लगे। दम घुटने के कारण रेंज अधिकारी जमीन पर गिर गया। इसी दौरान कुछ राहगीर मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जानलेवा हादसे का डर दिखाकर बचाव किया। मारमारी कम होने पर एक कर्मचारी से गाड़ी की ओट लेकर उच्चाधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद दफ्तर से फोरेस्ट गार्ड मौके पर पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को गाड़ी में डालकर अस्पताल पहुंचा है। अस्पताल पहुंचे थाना प्रभारी राजकरण ने घायल अधिकारियों के बयान दर्ज किए। इसके बाद केस दर्ज करने की प्रक्रिया में जुटे हुए हैं।

वारदात गंभीर हैं, आरोपित जल्द होंगे गिरफ्तार

थाना प्रबंधक राजकरण ने बताया कि कालबा गांव के सरपंच व अन्य लोगों पर फोरेस्ट विभाग के अधिकारियों पर हमले का आरोप है। वारदात गंभीर है, इसलिए नारनौल रेफर कर दिया। घायलों के बयान लेकर केस दर्ज करने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है। उन्होंने बताया कि वारदात के आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डीएफओ पहुंचे मौके पर, सख्त कार्रवाई के निर्देश

वारदात की सूचना मिलते ही जिला फोरेस्ट अधिकारी विपिन कुमार नांगल चौधरी पहुंचे। घायल कर्मचारियों को अस्पताल दाखिल कराने के बाद उन्होंने घटना की विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को बहरोड़ रोड पर चैकिंग करने भेजा गया था। विभाग की जमीन पर अतिक्रमण करने वालों ने जानलेवा हमला करके सरकारी काम में बाधा पहुंचाई है। जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा।


Next Story
Top