Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फुटबाॅल खिलाड़ियों का टूट रहा है मनोबल, खेल अधिकारी पर मनमानी का आरोप

खिलाड़ियों के प्रतिनिधिमंडल ने उपायुक्त और फतेहाबाद विधायक दुड़ाराम से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपकर सरकारी नियमों (Government regulations) की उल्लंघना करने वाले जिला खेल अधिकारी (District Sports Officer) पर कार्रवाई करने और जिला मुख्यालय पर फुटबाॅल कोच (Football coach)की नियुक्ति करने की मांग की है।

फुटबाॅल खिलाड़ियों का टूट रहा है मनोबल, खेल अधिकारी पर मनमानी का आरोप
X

फुटबाॅल खिलाड़ी।

हरिभूमि न्यूज : फतेहाबाद

जिले के फुटबाॅल खिलाड़ियों के प्रतिनिधिमंडल ने सीनियर फुटबालर गुलजार खान के नेतृत्व में उपायुक्त और फतेहाबाद विधायक दुड़ाराम से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपकर सरकारी नियमों की उल्लंघना करने वाले जिला खेल अधिकारी (District Sports Officer) पर कार्रवाई करने और जिला मुख्यालय पर फुटबाॅल कोच की नियुक्ति करने की मांग की है।

उपायुक्त से मिलने आई सीनियर फुटबॉलर गुलजार खान, डॉ. सतबीर ढिंगसरा, बलवान सिंह बनगांव, प्रदीप गोदारा किरढ़ान, मनोज शेखुपुर दड़ौली, सेठी, बग्गा, मोनू भोडि़याखेड़ा आदि ने बताया कि जिले के गांव शेखुपुर दड़ौली, भट्टूकलां, ढिंगसरा, किरढ़ान, बीघड़, बनगांव, भोडि़याखेड़ा, अहरवां, मानावाली व फतेहाबाद में सैंकड़ों की संख्या में खिलाड़ी फुटबाॅल का अभ्यास करते हैं। इन गांवों में राज्य स्तरीय टूर्नामेंट तक आयोजित किए जा चुके हैं लेकिन जिला खेल अधिकारी की बेरूखी से इन खिलाड़ियों का मनोबल टूट रहा है। अधिकारी द्वारा इन्हें कोई सहायता तक उपलब्ध नहीं करवाई जाती।

इन लोगों ने बताया कि पद का दुरूपयोग करते हुए खेल अधिकारी ने दिसम्बर 2019 में नियमिति रूप से एक सरकारी फुटबाॅल कोच के भूना के एक प्राइवेट स्कूल में भेजने के आदेश कर दिए जोकि नियमों के विरूद्ध है और न ही उक्त स्कूल द्वारा कोच की कोई डिमांड की गई थी।

गुलजार खान ने बताया कि खेल अधिकारी ने उक्त कोच को तीन दिन भूना और तीन दिन भोडि़याखेड़ा खेल स्टेडियम के आदेश कर रखे हैं लेकिन वह आदेशों के बावजूद भोडि़याखेड़ा स्टेडियम में अब तक नहीं पहुंचा जिस कारण खिलाड़ियों में रोष है। उन्होंने बताया कि उक्त सभी गांव जिला मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर है जबकि फतेहाबाद से भूना 26 किलोमीटर दूर है। इन खिलाड़ियों ने डीसी को पत्र सौंप कर जिला मुख्यालय पर तुरंत प्रभाव से फुटबाॅल कोच की नियुक्ति करने की मांग की है ताकि ये खिलाड़ी अच्छी कोचिंग ले सकें और प्रदेश व देश का नाम रोशन कर सकें। इसके अलावा इन्होंने लंबे समय तक के लिए मौखिक आदेश करने वाले जिल खेल अधिकारी पर कार्रवाई करने की मांग की है।


Next Story