Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवाड़ी में खुला रेंज का पहला साइबर थाना, साइबर ठगी के मामले सुलझाने में होगी अहम भूमिका

रेवाड़ी के अलावा रेंज में पड़ने वाले पलवल, नूहं व महेन्द्रगढ़ जिले के लोग ठगी से संबंधित शिकायतें ऑनलाइन भी करा सकेंगे। बुधवार को आईजी विकास अरोड़ा ने साइबर थाना के रिबन काटकर शुभारंभ किया। इस दौरान चारों जिलों के पुलिस अधीक्षक भी मौजूद थे।

रेवाड़ी में खुला रेंज का पहला साइबर थाना, साइबर ठगी के मामले सुलझाने में होगी अहम भूमिका
X

रेवाड़ी : साइबर थाना का शुभारंभ करते हुए आईजी विकास अरोड़ा।

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

तेजी के साथ बढ़ते साइबर ठगी के मामलों को रोकने और ऐसे मामलों में अपराधियों को पकड़ने के लिए अब साऊथ रेवाड़ी रेंज में भी अलग से पुलिस थाना खुल गया है। पुलिस लाइन में बनाये गए इस थाना में साइबर ठगी से संबंधित चार जिलों का कार्य होगा। रेवाड़ी के अलावा रेंज में पड़ने वाले पलवल, नूहं व महेन्द्रगढ़ जिले के लोग ठगी से संबंधित शिकायतें ऑनलाइन भी करा सकेंगे। बुधवार को आईजी विकास अरोड़ा ने साइबर थाना के रिबन काटकर शुभारंभ किया। इस दौरान चारों जिलों के पुलिस अधीक्षक भी मौजूद थे।

डीएसपी अमित भाटिया को थाना के प्रथम सुपरविजन और एसपी अभिषेक जोरवाल दूसरे सुपरविजन ऑफिसर नियुक्त किए गए है। साथ ही इंस्पेक्टर ऋषिकांत को थाना का पहला प्रभारी नियुक्त किया गया है। थाना में इंस्पेक्टर के अतिरिक्त 16 प्रशिक्षित पुलिस कर्मचारी का चयन कर उन्हें नियुक्त किया गया है। साइबर थाना में रेवाड़ी के अतिरिक्त महेंद्रगढ, पलवल व नूंह जिला शामिल होंगे। साइबर थाना के खुलने से चारों जिले के अंतर्गत क्षेत्र में बढ़ रहे साइबर अपराध पर अब शिकंजा कसने की पूरी तैयारी हो चुकी है। बृहस्पतिवार से निरीक्षक ऋषिकांत ने कार्यभार भी संभाल लिया है।

साइबर थाना में साइबर सैल से संबंधित सभी उपकरण भी उपलब्ध कराए जा चुके है। वर्तमान में प्रदेश में पंचकूला और गुरुग्राम में अलग-अलग दो साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन हैं। साइबर अपराध से संबंधित शिकायतों की संख्या, प्रकृति और जटिलता को देखते हुए इन शिकायतों के निपटान के लिए पुलिस कमिश्नरेट तथा रेंज स्तर पर साइबर क्राइम थानों की आवश्यकता होने पर सरकार ने प्रदेश में और साइबर थाने खोलने की घोषणा की थी। सरकार ने 6 साइबर थाना खोलने की मंजूरी दी है, जिनमें फरीदाबाद, साउथ रेंज रेवाड़ी, रोहतक रेंज, हिसार रेंज, करनाल रेंज व अंबाला रेंज शामिल हैं। साइबर थाना में साईबर अपराध से संबधिंत अपराध जिसमें सूचना तकनीक अधिनियम, भारतीय दंड संहिता, जालसाज करना, हैकर्स के माध्यम से फ्रोर्ड करना व एटीएम के माध्यम से फ्रोड करने संबंधित शिकायतों व मुकदमों की जांच की जाएगी।

Next Story