Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फिल्म अभिनेत्री युविका चौधरी के खिलाफ एफआईआर

एफआईआर अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम की धारा के तहत दर्ज की गई है जो कि गैर जमानती है।

फिल्म अभिनेत्री युविका चौधरी के खिलाफ एफआईआर
X

हांसी/हिसार। फिल्म अभिनेत्री युविका चौधरी के खिलाफ हांसी पुलिस ने अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत एक एफआईआर दर्ज की है। दलित अधिकार कार्यकर्ता रजत कलसन ने हांसी की पुलिस अधीक्षक निकिता अहलावत को शिकायत की थी कि युविका चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया है जिसमें उसने अनुसूचित जाति के लिए अपमानजनक व आपत्तिजनक टिप्पणी की हैं। उक्त वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इस शिकायत के साथ शिकायतकर्ता ने उक्त वीडियो की सीडी भी दी गई थी, जिसकी साइबर सेल द्वारा औपचारिक जांच के बाद आज थाना शहर हांसी में युविका चौधरी के खिलाफ एक औपचारिक एफआइआर दर्ज कर दी गई।

एफआईआर अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम की धारा 3(1)(ह्व) के तहत दर्ज की गई है जो कि गैर जमानती है। कलसन ने बताया कि जल्द ही पुलिस इस मामले में युविका चौधरी को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस जारी करेगी जिसके बाद उनकी संभावित गिरफ्तारी हो सकती है। कलसन ने कहा कि आजकल अनुसूचित जाति समाज के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने का चलन सा हो गया है। पहले युवराज सिंह ने, उसके बाद मुनमुन दत्ता ने तथा अब युविका चौधरी ने भी अनुसूचित जाति के समक्ष के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की है तथा इनके खिलाफ मुकदमें भी दर्ज हुए हैं। उन्हें कहा कि रणदीप हुड्डा ने भी बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की है जिसके बारे में भी हिसार के एसपी को शिकायत की गई हैं। उसने कहा आजकल सेलिब्रिटीज में अनुसूचित जाति समाज के बारे में अपमानजनक टिप्पणी कर टीआरपी हासिल करने का एक मुकाबला चल रहा है तथा सरकार व पुलिस को इस मामले में इन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर इस नाजायज चलन को खत्म करना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह इस मामले की अंत तक पैरवी करेंगे और इन सेलिब्रिटीज को सलाखों के पीछे भिजवाएंगे ताकि और कोई अनुसूचित जाति समाज के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी करने की हिमाकत ना कर सके ।

और पढ़ें
Next Story