Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोविड की दूसरी लहर का खौफ हर तरफ, कई विभागों के सामने आर्थिक चुनौती

हरियाणा सरकार के शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री कंवरपाल गुर्जर आर्थिक संकट को लेकर चिंतित हैं लेकिन कोविड-19 के कारण इस प्रकार के कदम उठाने वह लॉक डाउन लगाना जरूरी है। उनका कहना है कि मजबूरी में सरकारी स्कूलों को 31 मई तक बंद किया गया है। इसके कई प्रतिकूल प्रभाव भी हो रहे हैं लेकिन सबसे पहले जान की रक्षा करनी होगी।

कोविड की दूसरी लहर का खौफ हर तरफ, कई विभागों के सामने आर्थिक चुनौती
X

लॉकडाउन

Haribhoomi News : कोविड-19 की दूसरी लहर का खौफ हर तरफ सिर चढ़कर बोल रहा है। कोविड-19 के कारण जहां काफी परिवारों के सदस्य अपनी जान गवा चुके हैं। वही हरियाणा, पंजाब के बाद चंडीगढ़ ने भी पूरी तरह से लॉकडाउन लगा दिया है। हालांकि इस बार दुकानदार और मजदूर इस तरह से अचानक लॉकडाउन लगाने का जमकर विरोध कर रहे हैं। इतना ही नहीं कोविड-19 की दूसरी लहर ने एक बार फिर आर्थिक चक्र तोड़ने की शुरुआत कर दी है। हरियाणा में पर्यटन विभाग और रोडवेज सहित अन्य कई विभागों को एक बार फिर आर्थिक चुनौती झेलनी पड़ रही है।

हरियाणा सरकार के शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री कंवरपाल गुर्जर आर्थिक संकट को लेकर चिंतित हैं लेकिन कोविड-19 के कारण इस प्रकार के कदम उठाने वह लॉक डाउन लगाना जरूरी है। उनका कहना है कि मजबूरी में सरकारी स्कूलों को 31 मई तक बंद किया गया है। इसके कई प्रतिकूल प्रभाव भी हो रहे हैं लेकिन सबसे पहले जान की रक्षा करनी होगी। हरियाणा का पर्यटन विभाग भी वरिष्ठ मंत्री कंवर पाल गुर्जर के पास है उनका कहना है कि आर्थिक चक्र पर एक बार फिर से मार पड़ रही है। यहां तक कि पर्यटन विभाग हरियाणा के कर्मचारियों और अधिकारियों को उनके वेतन में अन्य भुगतान सरकार से 35 करोड़ की राशि लेकर करने पड़े हैं। शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री मानते हैं कि कोविड-19 का विपरीत प्रभाव केवल हरियाणा नहीं बल्कि बाकी राज्यों के साथ-साथ विश्व के काफी देशों पर पड़ रहा है।

इसी प्रकार से हरियाणा रोडवेज को भी कई तरह की चुनौतियां झेलनी पड़ रही हैं। हरियाणा के परिवहन और खनन मंत्री मूलचंद शर्मा मानते हैं कि विभाग को बसों के संचालन और कोविड-19 टी के कारण पिछले साल और अब दूसरी लहर के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। लेकिन कोविड-19 के कारण विभाग के सामने मजबूरी है।

लॉकडाउन में दोबारा मजदूर चले

हरियाणा और पंजाब के बाद अब चंडीगढ़ शहर में लॉकडाउन लगा दिए जाने के फैसले को लेकर दुकानदार मजदूर अब विरोध पर उतर आए हैं। मजदूरों ने एक बार फिर से अपना सामान उठाकर यूपी-बिहार का रुख कर लिया है। लॉकडाउन के कारण बैंकट हॉल होटल रेस्टोरेंट समेत दर्जनों धंधे बंद हो गए हैं जिनके मालिकों ने कोविड-19 की परेशानी में आर्थिक संकट को देखते हुए हाथ खड़े कर दिए हैं। आर्थिक तौर पर तंग हो रहे व्यापारी व दुकानदारों समाजसेवी संगठनों को इस बार लंगर लगाने व बाकी सामाजिक काम करते हुए कम ही देखा जा रहा है।

हरियाणा लोक सेवा आयोग ने रद किए एग्जाम

हरियाणा लोक सेवा आयोग की ओर से एक नोटिस जारी करते हुए सोमवार को भविष्य में होने वाली तमाम परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। आयोग की ओर से बताया गया है कि परीक्षाओं से 15 दिन पहले परीक्षा और इंटरव्यू को लेकर सूचनाएं दे दी जाएगी।

Next Story