Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोगों में लॉकडाउन का भय, दैनिक जरूरतों के सामान को एकत्रित करने में जुटे

रकार ने साफ तौर से इशारा किया हुआ है कि हरियाणा में लॉकडाउन जैसा कोई भी निर्णय नहीं लिया जाएगा फिर भी लोगों को डर है कहीं लॉकडाउन ना हो जाए तो हम खाएंगे क्या, तो इसको लेकर पहले ही तैयारी कर रहे हैं

लोगों में लॉकडाउन का भय, दैनिक जरूरतों के सामान को एकत्रित करने में जुटे
X

आटा चक्की 

हरिभूमि न्यूज : कैथल

अन्य राज्यों में लाकॅडाउन लगने के कारण लोग हडबडाहट में हैं। शहर के आटा चक्की के संचालक सुशील कुमार ने बताया कि जैसे ही दिल्ली राजस्थान आदि राज्यों में लाॅकडाउन लगा है। उसकी सूचना मिलते ही पिछले 2 दिनों से आटा चक्की पर बहुत भीड़ बढ़ गई है। उनका कहना है कि लोगों को डर है कहीं लॉकडाउन ना हो जाए तो हम खाएंगे क्या तो इसको लेकर पहले ही तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वह कल सुबह 5:00 बजे आकर अपनी दुकान पर आटा चक्की चलाई और रात लगभग 10:00 बजे तक काम करते रहे है।

उन्होंने बताया कि फिर भी लगभग 20 क्विंटल गेहूं पीसने के लिए शेष रह गया। सुरेश की आटा चक्की शहर के मॉडल टाउन में स्थित हैं। लॉकडाउन लगने के डर से लोगों ने अपनी दैनिक जरूरत के सामान को इकट्ठा करना शुरू कर दिया है बाजारों में भीड़ बढ़ रही है जिसके कारण संक्रमण और तेजी से अपने पैर पसार रहा है जबकि सरकार ने साफ तौर से इशारा किया हुआ है कि हरियाणा में लॉकडाउन जैसा कोई भी निर्णय नहीं लिया जाएगा। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा था कि अभी प्रदेश में लॉकडाउन का कोई विचार नहीं है। हमारे पास दवाइयों और ऑक्सीजन की कमी नहीं है।

हरियाणा में लॉकडाउन का फिलहाल कोई विचार नहीं है। मजदूर भाइयों को यहां से पलायन करने की जरूरत नहीं है। ये बातें स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अपनी अगुवाई में हुई स्टेट लेवल मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक खत्म होने के बाद कहीं। आपको बता दें कि आज अनिल विज की अध्यक्षता में कोरोना मुद्दे को लेकर गठित स्टेट लेवल मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में तमाम आला अधिकारी मौजूद थे।

Next Story