Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों का चक्काजाम आज, जानें कहां रहेंगे रास्ते बंद

संयुक्त किसान मोर्चा ने आज 3 घंटे दोपहर 12 बजे से लेकर 3 बजे तक चक्काजाम का ऐलान किया है। दिल्ली में भी अलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली-एनसीआर में सीआरपीएफ की 31 कंपनियों की तैनाती 2 हफ्ते के लिए और बढ़ा दी गई है।

किसानों का चक्काजाम आज, जानें कहां रहेंगे रास्ते बंद
X

टिकरी बॉर्डर पर तैनात सुरक्षा बल। 

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन आज प्रदेश में चक्काजाम करेंगे। इसको लेकर हरियाणा में भी सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है। पूरे प्रदेश में हाईअलर्ट जारी किया गया है। किसानों का कहना है कि सिर्फ राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय राजमार्ग ही जाम किए जाएंगे। इस दौरान एमरजेंसी सेवाओं को बंद नहीं किया जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चा ने आज 3 घंटे दोपहर 12 बजे से लेकर 3 बजे तक चक्काजाम का ऐलान किया है। दिल्ली में भी अलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली-एनसीआर में सीआरपीएफ की 31 कंपनियों की तैनाती 2 हफ्ते के लिए और बढ़ा दी गई है। हरियाणा में 140 से अधिक स्थानों पर आंदोलनकारी किसान स्टेट और नेशनल हाईवे जाम करने की तैयारी में हैं।

इससे निपटने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से सभी जिलों में पुलिसिया एवं प्रशासनिक व्यवस्था को पुख्ता किए जाने का दावा किया गया है ताकि विधि-व्यवस्था को लेकर कोई परेशानी न आए। हरियाणा के सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। शनिवार को कोई भी पुलिस कर्मी अवकाश पर नहीं होगा। जो लोग पहले से अवकाश पर चल रहे हैं, उन्हें भी ड्यूटी पर तैनात रहने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। दिल्ली में तैनात सीआरपीएफ की सभी यूनिट्स से कहा गया है कि वे अपनी बसों पर लोहे का जाल लगा लें। वहीं सिंघू, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर भी सुरक्षा और बढ़ा दी गई है। उधर, हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव ने बताया कि एसपी जिलों में किसानों से बात कर रहे हैं, ताकि कहीं कोई दिक्कत नहीं हो। पुलिस की ओर से ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी की गई है।

किसान नेताओं ने भी कहा कि चक्का जाम के दौरान शांति व्यवस्था का पूरा ख्याल रखा जाएगा। वहीं किसानों के प्रस्तावित चक्का जाम से निपटने के लिए हरियाणा पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है। वहीं किसान आपातकालीन वाहनों की आावाजाही को भी नहीं रोकेंगे। हरियाणा एडीजीपी ने एसपी और कमिश्नरों को निर्देश जारी किए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि गैर-परिचालन कर्तव्यों से अधिकतम बल को बाहर निकाला जाए और खुफिया नेटवर्क तैयार रहे। साथ ही बचाव के सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। पुलिस ने प्रत्येक परिस्थिति से निपटने के लिए अपने सभी प्रबंध पुख्ता कर लिए हैं। प्रदेशभर में सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगे। लोगों पर सीसीटीवी कैमरा से भी निगाह रखी जाएगी। पुलिस को अपने-अपने जोन में टियर गैस, एंटी राइट्स व्हीकल, एंबुलेंस, क्रेन और फायर ब्रिगेड से लैस रहने के निर्देश दिए गए हैं। किसानों के चक्काजाम को लेकर सभी जिलों में ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। कई जगह रूट डायवर्ट किए गए हैं। पुलिस ने पूरे प्रदेश में हाईअलर्ट जारी किया है। दूसरी ओर सिंघू बॉर्डर पर किसानों की भीड़ लगातार बढ़ रही है।

दिल्ली की सीमाएं किले में तब्दील

पुलिस ने किसानों के प्रस्तावित 'चक्का जाम' से पहले प्रदर्शन स्थलों के पास दिल्ली के विभिन्न बाॅर्डर को किले में तब्दील कर दिया है। सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी कर दी गई है। अतिरिक्त बलों की तैनाती की गई है। बहुस्तरीय अवरोधक, कंटीले तार तथा सड़कों पर नुकीली कीलें लगाई गई हैं। दिल्ली के पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने बल के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक भी की और सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा की।


Next Story