Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डीएपी के लिए पुलिस थानों में लग रही किसानों की लाइन, कृषि मंत्री बोले- प्रदेश में खाद की कमी नहीं

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि किसान अपनी अगामी फसल की तैयारी करें, उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नही है। किसानों को समय पर खाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को अच्छी मंडिया, योजनाएं दी है और फसलों को एमएसपी रेट पर खरीदा जा रहा है।

डीएपी के लिए पुलिस थानों में लग रही किसानों की लाइन, कृषि मंत्री बोले- प्रदेश में खाद की कमी नहीं
X

JP dalal


चंडीगढ़। एक तरफ जहां प्रदेश में डीएपी खाद के लिए किसान लाइनों में लगने को मजबूर हैं और खाद भी पुलिस थानों में दी जा रही है। वहीं हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने कहा है कि प्रदेश में खाद की कमी नहीं है और निकट भविष्य में न ही कोई कमी रहेगी। केंद्र सरकार से डीएपी खाद के छः रैक जल्द ही प्रदेश को मिल जाएंगे। दलाल ने यह बात यहां चण्डीगढ़ में पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

कृषि मंत्री ने कहा कि किसान अपनी अगामी फसल की तैयारी करें, उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नही है। किसानों को समय पर खाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को अच्छी मंडिया, योजनाएं दी है और फसलों को एमएसपी रेट पर खरीदा जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को जैविक खाद का उपयोग करना चाहिए, जिससे उनको मार्किट में फसलों, सब्जियों के अच्छे रेट मिल जाते हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार से सहयोग लेकर प्रदेश में जैविक खाद को बढ़ाया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश की गौशालाओं में गाय के गोबर से जैविक खाद तैयार कर उसको बेचा जाएगा और गौशालाओं की आय भी बढ़ेगी।

उन्होंने ने कहा कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए यूरिया की कुल 11 लाख एमटी की जरूरत है। प्रदेश सरकार के पास आज तक कुल 2 लाख 60 हजार 056 एमटी यूरिया खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 90 हजार एमटी से अधिक खाद किसानों को दिया जा चुका है। जो कि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 66 हजार 345 एमटी यूरिया खाद किसानों को दिया जा चुका था। दलाल ने बताया कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए डीएपी खाद की कुल 3 लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक एक लाख 38 हजार 356 एमटी डीएपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक एक लाख 10 हजार 185 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक एक लाख 3 हजार 072 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका था।

कृषि मंत्री ने बताया कि 2021-22 की रबी फसलों के लिए एसएसपी खाद की कुल एक लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 75 हजार 886 एमटी एसएसपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 39 हजार 975 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 13 हजार 380 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका था। इसी प्रकार 2021-22 की रबी फसलों के लिए एनपीके खाद की कुल 0.50 एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 20 हजार 937 एमटी एनपीके खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 14 हजार 202 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 2 हजार 648 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका था।

Next Story