Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टीकरी बॉर्डर पर किसानों ने फूंका बिल गेट्स का पुतला

किसानों का आंदोलन 193 दिन बाद भी सोमवार को धरना जारी रहा। वहीं संयुक्त किसान मोर्चे के वरिष्ठ नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल सोमवार को टीकरी बॉर्डर पर पहुंचे और किसानों से आंदोलन को लेकर चर्चा की।

टीकरी बॉर्डर पर किसानों ने फूंका बिल गेट्स का पुतला
X

बहादुरगढ़। बिल गेट्स का पुतला लेकर विरोध करते किसान।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

टीकरी बॉर्डर पर आंदोलन के 193 दिन बाद भी सोमवार को किसानों का धरना जारी रहा। सोमवार को किसानों ने टीकरी बॉर्डर पर मुख्य मंच के निकट बिल गेट्स का पुतला फूंकते हुए सरकार विरोधी नारेबाजी की। बादली के ढांसा बॉर्डर पर भी किसानों का धरना जारी रहा। बहादुरगढ़ के ऑटो मार्केट में भी आंदोलनकारी किसानों ने धरना दिया।

कुलवंत सिंह ने कहा कि वर्तमान शासन में देश लगातार मुसीबतों का सामना कर रहा है। देश की जनता बार-बार सड़कों पर बैठने को मजबूर हो रही है। आम आदमी कंगाल हो रहा है और पूजीपति मालामाल हो रहे हैं। किसान आंदोलन ने इस सरकार को हिला कर रख दिया है। आंदोलन में सभी धर्मों के लोग जुड़े हुए हैं। किसानों के साथ मजदूर भी खड़े हैं। सरकार की फूट डालो और राज करो की नीति को आंदोलन ने विफल कर दिया है। सुखजिंद्र सिंह ने कहा कि जब किसान कुदरत की गर्मी, सर्दी, तूफान, बारिश आदि से नहीं घबराते तो सरकार के षडंयत्रों से कैसे घबराएंगे। किसानों के हौसले बुलंद हैं और शांति पूर्वक आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं। ये कानून किसानों की मौत बनकर आए हैं, इनका रद होना किसानों के अस्तित्व के लिए बेहद जरूरी है। सुखबीर कौर ने भी किसानों से आंदोलन में भागेदारी बढ़ाने का आह्वान किया। ताकि किसानों की जीत जल्दी हो सके।

वहीं संयुक्त किसान मोर्चे के वरिष्ठ नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल सोमवार को टीकरी बॉर्डर पर पहुंचे और किसानों से आंदोलन को लेकर चर्चा की। उनके अनुसार किसानों की जीत जरूर होगी। बंगाल से किसानों की जीत की नींव रखी गई है। किसानों ने ही बंगाल में जाकर कहा था कि बीजेपी को वोट ना दें। बंगाल में भाजपा की हार के साथ ही कोरोना आ गया और इसकी वजह से अपने घरों में रुक गए थे। अब बड़ी तादाद में किसान सभी बॉडरों पर पहुंच रहे हैं और किसानों की जीत अवश्य होगी।

और पढ़ें
Next Story