Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धरने पर भाषण देते-देते किसान ने निगला जहर, पढ़ें फिर क्या हुआ

इस किसान की पहचान कोटपूतली राजस्थान निवासी किशन कुमार के रूप में हुई है। यह भारतीय किसान महासभा से जुड़ा हुआ है।

धरने पर भाषण देते-देते किसान ने निगला जहर, पढ़ें फिर क्या हुआ
X

जहर निगलने वाले किसान को उल्टी कराते साथी।

हरिभूमि न्यूज. रेवाड़ी

दिल्ली-जयपुर हाइवे स्थित जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर पर वक्ताओं के लिए बनाए गए मंच से भाषण देते-देते रविवार को राजस्थान के एक किसान ने देखते ही देखते जेब से निकालकर जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या का प्रयास किया। इस घटना से धरनास्थल पर हडकंप मच गया और उसका जीवन बचाने के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस किसान की पहचान कोटपूतली राजस्थान निवासी किशन कुमार के रूप में हुई है। यह भारतीय किसान महासभा से जुड़ा हुआ है।

हुआ यह कि धरनास्थल पर बनाए गए मंच से लगातार किसान नेता भाषण दे रहे थे। किशन कुमार ने भाषण देते-देते अचानक माइक छोडकर जेब से जहरीला पदार्थ निकाला और निगल लिया। जहर निगलते ही उसने कहा कि शहादत के पीछे शहादत ऐसे ही होती है। यदि सरकार को शहादत ही मंजूर है तो हम भी अपने आखिरी भाषण के साथ विदा लेते हैं। जैसे ही किशन कुमार की तबीयत बिगड़ने लगी तो तुरंत बहरोड़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस मौके पर किसान यूनियन के प्रधान बलबीर छिल्लर ने कहा कि किशन कुमार ने आवेश में आकर आत्महत्या करने की कोशिश की है। पूर्व विधायक पवन दुग्गल, राजाराम मील ने आत्महत्या के प्रयास की निंदा करते हुए कहा कि भावुकता में आकर ऐसा कदम न उठाएं। हमें संघर्ष की राह पर चलना है और सरकार का डटकर मुकाबला करना है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही है।


Next Story