Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान आंदोलन : औने पौने दामों में बिक रही सब्जियां, 75 फीसद से अधिक युवा नहीं जा पा रहे जॉब

यहां के करीब 75 प्रतिशत से अधिक युवा दिल्ली में नौकरी करते हैं, वहीं सब्जी उत्पादक किसान भी दिल्ली के भरोसे सब्जी उत्पादन करते हैं, लेकिन किसान आंदोलन के कारण किसान अपनी सब्जी लेकर दिल्ली नहीं जा रहे

किसान आंदोलन : औने पौने दामों में बिक रही सब्जियां, 75 फीसद से अधिक युवा नहीं जा पा रहे जॉब
X

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत। तीन कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसानों के आंदोलन के 53 दिन बाद भी किसानों की समस्या हल होती दिखाई नहीं दे रही। आंदोलनरत किसानों को जहां चौतरफा समर्थन मिल रहा है, वहीं कुंडली क्षेत्र के दर्जन से अधिक गांवों के ग्रामीणों के लिए आंदोलन अब आफत बनता जा रहा है।

क्योंकि यहां के करीब 75 प्रतिशत से अधिक युवा दिल्ली में नौकरी करते हैं, वहीं सब्जी उत्पादक किसान भी दिल्ली के भरोसे सब्जी उत्पादन करते हैं, लेकिन किसान आंदोलन के कारण किसान अपनी सब्जी लेकर दिल्ली नहीं जा रहे, जिस कारण उन्हे औने-पौने दामों पर सब्जी बेचनी पड़ रही है। जिससे काफी हर्जाना भुगतना पड़ रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि किसान या तो दिल्ली में चले जाएं या फिर पीछे सरक जाएं, कम से कम उनके लिए आफत न बनें। शुरूआत में किसानों को उम्मीद थी कि 8-10 दिनों में किसानों का आंदोलन खत्म हो जाएगा, लेकिन अब यह आंदोलन लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे ग्रामीणों की परेशानी बढ़ गई है।

कुंडली के अलावा अटेरना, सेरसा, जांटी, खुर्मपुर, प्रितमपुरा, बढ़खालसा, भैरा-बांकीपुर, मनौली, टांकी, नांगल कलां, दहिसरा गांवों के ग्रामीणों के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है कि उन्हें दूसरे रास्तों से घूमकर दिल्ली पहुंचना पड़ता है, जिसके कारण न केवल रोजाना का खर्च बढ़ गया है, बल्कि समय भी कई गुणा लगता है।

कल उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक से मिलेंगे ग्रामीण, करेंगे महापंचायत

गांव भैरा बांकीपुर में आसपास के ग्रामीणों ने एक बैठक की। जिसमें बॉर्डर पर सड़क रोक कर बैठे किसानों के कारण होने वाली दिक्कतों के बारे में चर्चा की। ग्रामीण 19 जनवरी को उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देंगे।

यदि कोई कार्रवाई नहीं हुई तो क्षेत्र में सभी लोगों की एक महापंचायत बुलाई जाएगी और उसमें जो भी निर्णय लिया जाएगा, उसके अनुसार आगामी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में गांव अटेरणा से चरण सिंह, गांव भैरा से जय राम मास्टर, सतीश, गांव खटकड़ से योगेश प्रधान, गांव सेरसा से मोनू प्रधान, गांव जाटी से जसवीर प्रधान, गांव खुरमपुर से नरेश प्रधान, गांव मनौली से प्रवीण कुमार, गांव जाटी से अमित कुमार एडवोकेट, सुधीर मान, विक्की मान, राजेश मलिक, गांव सेरसा मास्टर बृजमोहन, दहिसरा से अनिल मलिक सहित अन्य मौजूद रहे।



Next Story