Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान आंदोलन : कुंडली बार्डर पर ही खुल गया आठ बैड का अस्पताल

यहां रोजाना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिसे देखते हुए किसानों ने कुंडली बॉर्डर पर ही आठ बैड का अस्थाई अस्पताल बना दिया है।

किसान आंदोलन : कुंडली बार्डर पर ही खुल गया आठ बैड का अस्पताल
X

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में कुंडली बॉर्डर पर 45 दिनों से धरनारत किसान अपनी परेशानियों का समाधान करने के लिए खुद ही संघर्ष कर रहे हैं। गत कई दिनों तक हुई बारिश के बाद आंदोलनरत किसान बीमार हो रहे हैं।

यहां रोजाना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिसे देखते हुए किसानों ने कुंडली बॉर्डर पर ही आठ बैड का अस्थाई अस्पताल बना दिया है। किसानों के लिए खोले गए अस्पताल मेंे चिकित्सकों की टीम भी तैनात कर दी गई है, वहीं अस्पताल में जरूरत की मशीनें जुटाने के लिए किसानों ने प्रयास तेज कर दिए हैं।

अस्पताल में गंभीर मरीज रूप से बीमार किसानों को दाखिल कर उपचार भी शुरू कर दिया गया है। किसानों का कहना है कि चैकअप के लिए न केवल मशीनें यहां जुटाने का प्रयास किया जा रहा है, बल्कि हर बीमारी के विशेषज्ञ चिकित्सकों की एक टीम यहां पहुंच गई है। इस टीम में शामिल अधिकतर चिकित्सक पंजाब से पहुंचे हैं। इन चिकित्सकों में कई तो आंदोलनरत किसानों के परिजन ही हैं।

बता दें कि 3 कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर कुंडली बॉर्डर पर जमे किसानों में से 8 किसानों की ठंड, हार्ट अटैक व बीमारी से मौत हो चुकी है। अब गत दिनों हुई बारिश के बाद से अचानक मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है।

मरीजों को नजदीकी अस्पतालों में दाखिल करवाया जा रहा है। एक तरफ किसान किसान बारिश व ठंड से बचने के इंतजाम करने में जुटे हुए हैं, वहीं बढ़ते मरीजों को देखते हुए धरनास्थल पर ही 8 बैड का अस्थाई अस्पताल ही शुरू कर दिया है। जिसका किसानों को फायदा पहुंचेगा। अब मरीजांे को नजदीकि अस्पताल में ले जाने की बजाय यहां उपचार मुहैया करवाया जा सकेगा।



Next Story