Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भंडाफोड़ : Sirsa में घर में बना रहे थे नकली नोट, महिला सहित तीन गिरफ्तार

पुलिस (Police) ने आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरोह (Gang) के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। वहीं पुलिस ने पुलिस को मौके पर 51000 की नकली करेंसी भी बरामद की है।

भंडाफोड़ :  Sirsa में घर में बना रहे थे नकली नोट, महिला सहित तीन गिरफ्तार
X

सिरसा। पुलिस ने डबवाली के वार्ड 20 में छापेमारी कर एक घर से नकली नोटों और रंगीन प्रिंटर सहित महिला व दो युवकों को गिरफ्तार (Arrested) किया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों गिरफ्तार कर वहां से मिले सामान को अपने कब्जे में ले लिया और गैंग के खिलाफ भादंसं की धारा 489बी, 489सी, 489डी के तहत मामला दर्ज जांच शुरू कर दी है। पुलिस को मौके पर 51000 की नकली करेंसी भी बरामद की है। जिसमें 2000 रुपए के 25 नोट व 500 रुपए के दो नकली नोट मिले हैं। मौके पर कुल 51 हजार रुपए के नकली करंसी के अलावा एक रंगीन प्रिंटर बरामद किया गया। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरोह के बारे में जानकारी जुटानी शुरू कर दी है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए डीएसपी डबवाली कुलदीप सिंह बैनीवाल ने बताया कि पकड़े गए लोगों की पहचान गगनदीप पुत्र सुखमंदर सिंह निवासी सक्ता खेड़ा, रविंद्र उर्फ रेदी पुत्र मंदर सिंह निवसी मिठड़ी (पंजाब) व रेखा रानी पत्नी तरूण कुमार वार्ड नं. 6, मंडी डबवाली के रूप में हुई है । पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ थाना शहर डबवाली में अभियोग दर्ज किया गया है । डीएसपी डबवाली कुलदीप सिंह बैनीवाल ने बताया कि शहर थाना डबवाली प्रभारी इंस्पैक्टर मंदीप सिंह को महत्वपूर्ण सूचना मिली कि भगत सिंह कालोनी, वार्ड नं. 6, मंडी डबवाली में एक महिला रेखा रानी के घर पर बड़े पैमाने पर जाली नोटों का धंधा चल रहा है तथा उक्त लोग जाली करंसी को बाजार में सप्लाई करने की फिराक में है ।

उन्होंने बताया कि इस सूचना को पाकर शहर थाना डबवाली प्रभारी ने एक पुलिस टीम का गठन किया और उक्त पुलिस टीम ने वार्ड नं. 6, डबवाली स्थित महिला रेखा के घर पर दबिश देकर मौका से महिला सहित तीन लोगों को रंगीन प्रिंटर, स्कैनर व 51 हजार रुपये की जाली करंसी के साथ काबू किया है । उन्होंने बताया कि बरामद किए नोटों में 25 नोट दो-दो हजार रुपये के जबकि 2 नोट 500-500 रूपये के हैं । डीएसपी डबवाली ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान आरोपियों से पूछताछ कर जाली करंसी के इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालूम कर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी ।

Next Story