Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेटी के शगुन में एक रुपया व त्रिवेणी देकर दहेज के लोभियों के सामने पेश की मिसाल

शिक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि उनके पिता जयदेव यादव एवं माता देव कौर ने उनकी शादी में भी शगुन में एक रुपया लिया था वही परंपरा हम भी निभा रहे हैं

बेटी के शगुन में एक रुपया व त्रिवेणी देकर दहेज के लोभियों के सामने पेश की मिसाल
X

शादी में कन्यादान के लिए लगाया गया शगुन-पात्र।

हरिभूमि न्यूज. कुंड (रेवाड़ी)

महेंद्रगढ़ के आखोदा-धनौदा गांव में दहेज में क्रेटा गाड़ी की मांग को लेकर टूटा रिश्ता भले ही अभी तक लोगों के जहन से नहीं निकल पाया हो, परंतु रेवाड़ी के कोलाना गांव में राज्य शिक्षक अवार्डी ओमप्रकाश की आईआईटियन बेटी मोनिका व सूरत गुजरात के आईआईटियन राहुल के साथ एक रुपए शुगन व त्रिवेणी के साथ हुए विवाह ने दहेज लोभियों के मुंह पर तमाचा जड़ दिया है।

यहां तक शिक्षक द्वारा शादी में कन्यादान देने वाले आगंतुको के लिए शगुन-पात्र रखा जिस पर सिर्फ 10 रुपए डालने का आग्रह भी अंकित किया गया। शादी से पूर्व लग्न में वर पक्ष को एक रुपया शगुन व त्रिवेणी का पौधा भेंट किया तथा भात में भी शगुन के तौर पर एक रुपया व त्रिवेणी का पौधा लिया गया। सरपंच मनोज कुमार शास्त्री द्वारा फेरो के बाद वर-वधु को हर साल शादी की सालगिरह पर पौधारोपण करने की शपथ भी दिलाई।

शिक्षक ओमप्रकाश ने बताया कि उनके पिता जयदेव यादव एवं माता देव कौर ने उनकी शादी में भी शगुन में एक रुपया लिया था वही परंपरा हम भी निभा रहे हैं। शिक्षक की इस पहल के लिए जगदीश चंद्र, धर्मबीर ,सूर्य प्रकाश ,सत्यप्रकाश, रामप्रकाश,महाबीर, राज्य शिक्षक अवार्डी संतोष यादव ,बीईओ महेंद्र सिंह खनगवाल,डॉ विश्वेश्वर ,यशवंतराव , प्रवक्ता दिनेश यादव सरपंच गार्गी चौहार सुंदरोज ,विजयपाल चौहान, कोलाना सरपंच मनोज शास्त्री ,प्राचार्य अनिल कुमार ,कामरेड राजेंद्र सिंह एडवोकेट ने सराहना की।

और पढ़ें
Next Story