Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दो जिंदगियां लीलने के बाद भी धुएं के साथ सुलग रही है आग

शार्ट सर्किट के चलते आग लगने की आशंका जताई जा रही है। उधर, अग्निकांड में हुई दो श्रमिकों की मौत मामले में एमआईई चौकी पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

दो जिंदगियां लीलने के बाद भी धुएं के साथ सुलग रही है आग
X

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़। एमआईई पार्ट-बी स्थित तीन फैक्ट्रियों में लगी भीषण आग दो श्रमिकों की जान लील लेने के बावजूद पूरी तरह से शांत नहीं हुई है। फैक्ट्रियों के कुछ हिस्सों में धुआं उठ रहा है तो कहीं आग सुलग रही है।

शार्ट सर्किट के चलते आग लगने की आशंका जताई जा रही है। उधर, अग्निकांड में हुई दो श्रमिकों की मौत मामले में एमआईई चौकी पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

दरअसल, आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र के पार्ट-बी के प्लॉट नंबर 1625 में चल रही पीवीसी वेस्टेज फैक्ट्री में अचानक आग लग गई थी। ज्वलनशील पदार्थ होने के चलते आग तेजी से फैली। साथ लगती गत्ता फैक्ट्री (1624) और हेल्मेट व बाइक की टंकी बनाने वाली फैक्ट्री (1626) भी आग की गिरफ्त में आ गईं।

गत्ता, रेग्जीन-रबड़ व प्लास्टिक आदि माल भरा होने के कारण तीनों फैक्ट्रियां आग से धधक उठी। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की गाडि़यां मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक आग पूरी तरह से भड़क चुकी थी। आग बुझाने के लिए पहुंची बहादुरगढ़ दमकल केंद्र की छह गाडि़यां कम पड़ गई। इसके बाद सोनीपत और झज्जर से दो-दो और गाडि़यां मौके पर आई। रातभर दमकल कर्मी आग बुझाने में लगे रहे।

अग्निकांड के बीच फैक्ट्री के दो श्रमिक लापता थे। इनके फैक्ट्री में फंसे होने की आशंका जताई जा रही थी। अल सुबह करीब चार बजे आग नियंत्रण में आ पाई। जिसके बाद सर्च अभियान चला और दोनों श्रमिकों अमर व गणेश के शव निकाले गए। शवों को शहर के नागरिक अस्पताल में ले जाया गया। वहां परिजनों के बयान के बाद शवों के पोस्टमार्टम कराने की प्रक्रिया शुरू कराई गई।

फैक्ट्री मालिक पर ये आरोप

गणेश की पत्नी हिना के बयान पर एमआईई चौकी पुलिस ने फैक्ट्री मालिक संजय निवासी दिल्ली के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस को दी शिकायत में हिना ने कहा है कि फैक्ट्री चारों तरफ से बंद है। अंदर मालिक द्वारा आग बुझाने के यंत्र भी नहीं लगाए।

परिसर में बिजली की तारें भी काफी पुरानी थी। अक्सर स्पार्किंग होती रहती थी। उसके पति गणेश ने कई बार फैक्ट्री मालिक संजय को तार बदलवाने के लिए कहा था। लेकिन सुनवाई नहीं हुई। मालिक संजय कहता कि तुम काम करते रहा, समय लगते ही ठीक करा दूंगा। उसकी इसी लापरवाही और नियमों की अनदेखी ने मेरे पति व भतीजे की जिंदगी लील ली। ज्यादा मात्रा में पीवीसी वेस्टेज रखने व मालिक की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ है। संजय के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

जांच की जा रही

अग्नि कांड में दो श्रमिकों की मौत हुई है। उनके पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कराई जा चुकी है। शिकायत के आधार पर फैक्ट्री मालिक के खिलाफ केस दर्ज किया है। मामले में गंभीरता से जांच की जाएगी। - रवींद्र मलिक, चौकी प्रभारी, एमआईई



Next Story