Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक की तर्ज पर कैथल में भी होगा एलिवेटेड रेलवे लाइन का निर्माण

सरकार की ओर से ट्रैक को लेकर करवाए गए सर्वे के बाद इसके निर्माण की रिपोर्ट को फिजिबल घोषित किया गया था तो वहीं अब रेलवे मंत्रालय ने भी प्रोजेक्ट को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है।

रोहतक की तर्ज पर कैथल में भी होगा एलिवेटेड रेलवे लाइन का निर्माण
X

कैथल रेलवे स्टेशन

सूरज सहारण : कैथल

शहर में करनाल रोड पर हो रही भीड़ को कम करने के लिए अब शहर के ड्रीम प्रोजेक्ट एलिवेटेड ट्रैक का निर्माण जल्द ही शुरू होने वाला है। इससे कैथल शहर में प्रदेश के तीसरे एलिवेटिड ट्रैक के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। सरकार की ओर से ट्रैक को लेकर करवाए गए सर्वे के बाद इसके निर्माण की रिपोर्ट को फिजिबल घोषित किया गया था तो वहीं अब रेलवे मंत्रालय ने भी प्रोजेक्ट को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है।

गौरतलब है कि करनाल रोड पर रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण की प्रक्रिया शुरू होने के बाद दुकानदारों के विरोध के बाद रेल मार्ग पर पिछले वर्ष मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एलिवेटिड ट्रैक बनाने की घोषणा की थी। इसके निर्माण को लेकर पिछले वर्ष दिसंबर में सर्वे करने वाली एजेंसी ने रिपोर्ट को फिजिबल बताकर पीडब्ल्यूडी विभाग को सौंपी थी। बाद में हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर कार्पोरेशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर रवि कुमार गुप्ता ने कार्पोरेशन की ओर से एलिवेटिड ट्रैक को लेकर किए गए सर्वे की रिपोर्ट सरकार को सौंप दी गई थी।

कैथल में नरवाना-कुरुक्षेत्र रेल मार्ग पर करीब चार किलोमीटर लंबा एलिवेटिड ट्रैक बनाने की योजना बनाई गई है। पिछले वर्ष दिसंबर 2020 महीने में इस प्रोजेक्ट की डीपीआर जिला प्रशासन ने रेलवे बोर्ड को भेजी गई थी। इस प्रोजेक्ट को हरियाणा रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर कापोर्रेशन ने पास करना था।

साढ़े चार किलोमीटर लंबा होगा ट्रैक

ऐसा बताया जा रहा है कि रेलवे स्टेशन के समीप बने जींद रोड पर बने आरओबी से 100 मीटर की दूरी के बाद गांव भैणी माजरा तक करीब चार किलोमीटर लंबा एलिवेटिड ट्रैक बनाने की योजना बनाई गई है, जिसमें डेढ़ किलोमीटर के तीन हिस्सों में यह ट्रैक बनाया जाएगा। इस ट्रैक में डेढ किलोमीटर ट्रैक की ऊंचाई, डेढ़ किलोमीटर तक समतल ट्रैक और डेढ़ किलोमीटर तक ट्रैक के नीचे उतरने वाली रेल लाइन का निर्माण होगा। शहर में बने नया कैथल रेलवे हॉल्ट को भी ऊंचा उठाया जाएगा।

तीन रेलवे फाटक भी खत्म हो जाएंगे

शहर में यदि एलिवेटिड ट्रैक का निर्माण होता है तो शहर के बीचों-बीच गुजरने वाले तीन रेलवे फाटक भी खत्म हो जाएंगे। इन फाटकों में देवीगढ़ रोड, करनाल रोड और नए बस स्टैंड के समीप स्थित फाटक खत्म हो जाएगा। यहां से ट्रैक ऊपर होगा, जबकि ट्रैफिक नीचे चलेगा। इससे जाम की समस्या और बार बार बंद होने वाले फाटक का झंझट खत्म होगा।

प्रोजेक्ट में 215 करोड़ रुपये का प्रपोजल

ऐलीवेटिड ट्रैक के निर्माण प्रक्रिया को लेकर सरकार की ओर से हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट कॉरपरेशन को इसका जिम्मा सौंपा गया था। कॉरपरेशन ने सर्वे कर सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है। अब सरकार की ओर से इसके निर्माण को लेकर आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। सरकार ने इस प्रोजेक्ट में 215 करोड़ रुपये का प्रपोजल बनाया था।

ट्रैक का निर्माण कार्य रेलवे का है

कैथल में एलिवेटेड ट्रैक का निर्माण कार्य रेलवे विभाग का है। इसकी घोषणा के समय में जो प्रक्रिया विभाग की ओर से की जानी थी, उसे पूरा कर दिया गया था तथा अन्य सभी प्रकार की कार्रवाई रेलवे विभाग द्वारा पूरी की जाएगी। - साजन कुमार, अधीक्षक अभियंता, लोक एवं निर्माण विभाग कैथल।

Next Story