Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना काल में दो लाख से अधिक विद्यार्थियों ने छोड़े प्राइवेट स्कूल

यह जानकारी शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने दी। उन्होंने स्कूलों में बच्चों को मोबाइल न लाने के सम्बंध में स्पष्ट निर्देश जारी करने के लिए भी कहा।

कोरोना काल में दो लाख से अधिक विद्यार्थियों ने छोड़े प्राइवेट स्कूल
X

शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते शिक्षा मंत्री कंवरपाल।

कोविड काल में निजी स्कूलों काे छोड़कर 2 लाख से अधिक विद्यार्थियों ने सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया है। इनमें नौवीं कक्षा के विद्यार्थियों की संख्या अधिक है। यह जानकारी शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने दी। शिक्षा मंत्री सिविल सचिवालय में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को म्युचुअल ट्रांसफर कराने के इच्छुक जेबीटी शिक्षकों की समस्याओं के सम्बंध में ठोस कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभाग की कई योजनाओं की प्रगति के बारे में रिपोर्ट भी ली। शिक्षा मंत्री ने स्कूल में बच्चों को मोबाइल न लाने के सम्बंध में स्पष्ट निर्देश जारी करने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा कि जिन बच्चों को मोबाइल पर ऑनलाइन पढाई करनी है, वे घर से ही पढ़ाई करें। स्कूल में मोबाइल फोन लाने की छूट नहीं दी जा सकती।

लंबित पड़े भर्ती के मामलों में तेजी लाने का निर्देश

शिक्षा मंत्री ने कहा कि विभाग में लंबित पड़े भर्ती के मामलों में तेजी लाई जाए। इसके लिए जो भी कानूनी पेचीदगियाँ आड़े आ रही हैं, उनका निराकरण करने के लिए भी कहा। इसके साथ ही उन्होंने विभाग में रिक्त पड़े ग्रुप डी के पदों पर भर्ती करने के लिए प्रपोजल तैयार करने के लिए विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए ताकि रिक्त पदों को समय से भरा जा सके। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के तबादलों के मामलों को प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाए। मॉडल संस्कृति स्कूलों के सम्बन्ध में समीक्षा के दौरान बैठक में बताया गया कि प्रदेश में शुरू किए जा रहे 136 मॉडल संस्कृति स्कूलों में से 122 स्कूलों के लिए सीबीएसई से मान्यता ली जा चुकी है। शिक्षा मंत्री ने शेष स्कूलों के लिए भी मान्यता सम्बन्धी कार्रवाई प्राथमिकता से पूरी करने के लिए निर्देश दिए।



Next Story