Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दोस्ती का खून : शराब के नशे में हुआ झगड़ा, ब्लेड से गला रेतकर दोस्त की हत्या

यूपी के महोबा का रहने वाला राहुल व उसका साथी उत्तराखंड का राजकुमार पुत्र मनवीर (35) एक ही कमरे में किराए पर रहते थे। रात को दोनों में झगड़ा हुआ और सुबह राजकुमार का शव खून से लथपथ पड़ा था।

Bihar Crime muzaffarpur man attack shopkeeper from knife over gutkha Uncle dies in shock
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

कुंडली थाना में किराए पर रह रहे दो दोस्तों में शराब पीने के बाद हुए झगड़े में तेजधार हथियार से गला रेतकर दोस्त की हत्या कर दी। दोनों का दो दिन पहले झगड़ा होना बताया जा रहा है। गांव कुंडली निवासी विनोद कुमार ने पुलिस को बताया कि वह अपने घर में पहली मंजिल पर परिवार के साथ रहता है। उसने अपने घर के ग्राउंड फ्लोर के कमरे किराए पर दे रखे हैं। उसके मकान में यूपी के महोबा का रहने वाला राहुल व उसका साथी उत्तराखंड का राजकुमार पुत्र मनवीर (35) एक ही कमरे में किराए पर रहते थे। देर रात दोनों आपस में झगड़ा कर रहे थे। जब वह उनके कमरे में गया तो दोनों ने शराब पी रखी थी और नशे में गाली-गलौज कर रहे थे।

उसने दोनों को समझाकर शांत कर दिया था। उसके बाद वह सो गया। बाद में जब वह उठकर उनके कमरे में गया तो राजकुमार खून से लथपथ पड़ा था। राहुल वहां से फरार था। उसकी गर्दन पर तेजधार हथियार के निशान थे। उसने मामले से कुंडली थाना पुलिस को अवगत कराया। जिस पर थाना प्रभारी रवि कुमार व एसआई नरेंद्र की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने राजकुमार के शव को कब्जे में लिया। पुलिस ने मृतक राजकुमार के परिजनों के बारे में छानबीन करने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें कोई जानकारी नहीं मिल सकी। राजकुमार के पास केवल एक आधार कार्ड का नंबर था। पुलिस अब उसी आधार कार्ड के नंबर के आधार पर उसके गांव व पते की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने शनिवार को नागरिक अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया। पुलिस ने मामले में मकान मालिक विनोद के बयान पर राहुल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पांच साल से एक साथ रहते थे दोनों, करते थे मेहनत-मजदूरी

राजकुमार व राहुल करीब पांच साल से एक साथ रह रहे थे। फिलहाल वह एक ही कमरे में रहते थे और मेहनत मजदूरी करते थे। अंदेशा है कि रात को शराब के नशे में हुए झगड़े के चलते ही राहुल ने राजकुमार की हत्या की है। राजकुमार का पूरा पता नहीं मिल सका है। विनोद ने बताया कि डेढ़ माह पहले ही राजकुमार उसके मकान पर रहने के लिए आया था।



Next Story