Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिग्विजय चौटाला बोले- अभय चौटाला की बदतमीजियों ने हमें अलग राह चुनने पर किया था मजबूर

दिग्विजय ने कहा कि अभय चौटाला द्वारा महिला पत्रकार से किए गए दुर्व्यवहार की जितनी आलोचना की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं व पत्रकारों के साथ बदतमीजी करना अभय चौटाला की पुरानी आदतों में शुमार रही है।

दिग्विजय चौटाला बोले-  अभय चौटाला की बदतमीजियों ने हमें अलग राह चुनने पर किया था मजबूर
X

इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला द्वारा एक महिला पत्रकार से बदतमीजी व दुर्व्यवहार की घटना को लेकर इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला की कड़ी आलोचना की हैं। दिग्विजय ने कहा कि अभय चौटाला द्वारा महिला पत्रकार से किए गए दुर्व्यवहार की जितनी आलोचना की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं व पत्रकारों के साथ बदतमीजी करना अभय चौटाला की पुरानी आदतों में शुमार रही है। दिग्विजय ने कहा कि उनके व कार्यकर्ताओं के साथ इस तरह की बदतमीजियों की वजह से ही उन्हें अलग राह चुनने को मजबूर होना पड़ा था। उन्होंने कहा कि इनेलो नेता अभय चौटाला बदतमीजी, मारपीट, गुंडागर्दी और धमकियों के शहंशाह हैं।

इनसो अध्यक्ष ने कहा कि पहले अभय सिंह चौटाला कार्यकर्ताओं और आम जनता को डराने धमकाने की आदत से मजबूर थे लेकिन अब आत्मसम्मान कार्यकर्ता और आम जनता अभय सिंह चौटाला की धमकियों से आजाद हो चुके हैं तो अब वह महिला पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार कर अपनी राजनीतिक विफलताओं की खीज निकालते हैं।

मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है, ऐसे में अभय चौटाला द्वारा एक महिला पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार करना उनकी सोच व व्यक्तित्व को दर्शाता है। दिग्विजय ने कहा कि इसी व्यवहार की वजह से पुरानी इनेलो के कार्यकर्ताओं ने अभय चौटाला के साथ जाना पसंद नहीं किया। उन्होंने कहा कि अभय सिंह की सोच विकासवादी नहीं बल्कि सामंतवादी है और उनके पास प्रदेश के विकास व प्रगति का कोई मुद्दा या योजना नहीं है। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि अभय सिंह चौटाला की राजनीति का इकलौता मकसद राजनीतिक प्रभाव के जरिए लोगों का डराना और धमकाना है।

इनसो अध्यक्ष ने ये भी कहा कि अभय चौटाला को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या मेरे पिता अजय सिंह चौटाला को भ्रष्ट कहकर अभय सिंह चौटाला अप्रत्यक्ष तौर पर हमारे पूजनीय चौधरी ओमप्रकाश चौटाला को भी भ्रष्ट बताने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभय सिंह चौटाला की मुखौटा लगाने की लाख कोशिशों के बावजूद उनका असली चेहरा समय-समय पर लोगों के बीच आता रहता है।

दिग्विजय ने कहा कि प्रदेश की जनता भी बहुत पहले इनके रवैये से परिचित हो गई थी और बीते चुनाव में इनको खुद ही विधानसभा सीट बचाने के लिए भी काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। उन्होंने कहा कि आने वाले उपचुनावों में ऐलनाबाद हलका भी अभय चौटाला की धमकियों, बदतमीजियों व दुर्व्यवहार से आजादी की लड़ाई लड़ेगा और अभय सिंह की गुंडागर्दी से आजादी पाते हुए जेजेपी-बीजेपी गठबंधन की भारी बहुमत से जीत होगी।

Next Story