Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डेंगू-मलेरिया का प्रकोप : अब शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी बढ़ रही मरीजों की संख्या

अब तक बहादुरगढ़ में 10 लोगों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है, इसके अलावा 689 घरों में लारवा मिल चुका है। ये तो केवल सरकारी आंकड़े हैं। रोजाना नए मरीज सामने आ रहे हैं।

डेंगू-मलेरिया का प्रकोप : अब शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी बढ़ रही मरीजों की संख्या
X

बहादुरगढ़ : सड़क किनारे जमा गंदे पानी में बैठे मच्छर।

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

डेंगू, टाइफाइड और मलेरिया के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। शहर के साथ ही गांव देहात मेंं लगातार मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। अब तक बहादुरगढ़ में 10 लोगों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है, इसके अलावा 689 घरों में लारवा मिल चुका है। ये तो केवल सरकारी आंकड़े हैं। रोजाना नए मरीज सामने आ रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार लारवा पनपने से डेंगू-मलेरिया का प्रकोप बढ़़ रहा है। डेंगू की रोकथाम के लिए व्यापक स्तर पर कदम उठाने की जरूरत है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजय दहिया बताते हैं कि मलेरिया रोग साफ पानी में ठहरे हुए मादा एनाफिलीज मच्छर के काटने से होता है। इसी तरह डेंगू एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। इसलिए इस रोग से बचाव के लिए अपने घरों और आसपास में जलभराव न होने दें। मच्छर जनित रोगों से बचाव के लिए सभी लोग अपने घरों के अंदर व आस-पास साफ सफाई रखें और पानी का जमाव न होने दें। रुके हुए पानी के स्थानों को मिट्टी से भर दें। या फिर मिट्टी का तेल या डीजल आदि डाल दें। जिससे मच्छर नष्ट हो जाएं। तेज बुखार होने पर चिकित्सक से संपर्क करें। बुखार के समय पानी, नारियल पानी, शिकंजी, ताजे फलों का रस इत्यादि तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें। मलेरिया का शक होने पर नजदीकि सरकारी अस्पताल में जाकर जांच कराएं।

ऐसे भी करें बचाव

अपने आस-पास मच्छरों को न पनपने दें।

अनुपयोगी वस्तुओं में पानी इकट्ठा न होने दें।

पानी की टंकी पूरी तरह से ढक कर रखें।

घर और कार्य स्थल के निकट पानी जमा न होने दें।

पूरी बाजू वाली कमीज और पैंट पहनें।

दरवाजों व खिड़कियों पर जाली लगवाएं।

मच्छरदानी का नियमित प्रयोग करें।

हर सप्ताह कूलर-गमले आदि खाली कर सुखाएं।

नालियों की नियमित सफाई सुनिश्चित करें।

और पढ़ें
Next Story