Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंटरनेट बंद करने पर भड़के लोग, जींद में नेशनल हाईवे किए जाम

जो वाहन जाम में फंस गए उनके चालकों को खाने-पीने तथा सुरक्षा का जिम्मा आंदोलनरत किसानों ने उठाया। दोनों स्थानों पर नेशनल हाईवे जाम किए जाने के चलते वाहनों को दूसरे रास्तों पर डायवर्ट कर दिया गया।

इंटरनेट बंद करने पर भड़के लोग, जींद में नेशनल हाईवे किए जाम
X

इंटरनेट सेवा बहाल करने की मांग को लेकर हाईवे पर जाम लगाते किसान। 

हरिभूमि न्यूज. जींद

पिछले चार दिनों से बंद इंटरनेट सेवा के विरोध में गांव खटकड़ टोल प्लाजा पर जींद-पटियाला नेशनल हाईवे तथा गांव बद्दोवाला टोल प्लाजा पर हिसार-चंडीगढ़ मार्ग पर किसानों ने जाम लगा दिया। जाम के दौरान एमरजेंसी सेवाओं व किसानों के वाहनों को जाम स्थलों से गुजरने की अनुमति दी गई। जो वाहन जाम में फंस गए उनके चालकों को खाने-पीने तथा सुरक्षा का जिम्मा आंदोलनरत किसानों ने उठाया। दोनों स्थानों पर नेशनल हाईवे जाम किए जाने के चलते वाहनों को दूसरे रास्तों पर डायवर्ट कर दिया गया। लगभग दो घंटे लगे जाम के कारण वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

जिले के गांव खटकड तथा बद्दोवाला टोल प्लाजा पर तीन कृषि कानून को रद्द करने की मांग को लेकर पिछले 37 दिनों से किसानों का धरना चला हुआ है। पिछले चार दिनों से सरकार ने इंटरनेट सेवाओं को बंद किया हुआ है। जिससे जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है। सूचनाओं का माध्यम ठप होने से भी किसान अच्छेखासे नाराज थे। मंगलवार को सुबह सवा 11 बजे खटकड़ टोल प्लाजा तथा बद्दोवाला टोल प्लाजा पर बैठे किसान जींद-पटियाला तथा हिसार-चंडीगढ मार्ग पर आ गए और जाम लगा दिया।

एमरजेंसी वाहनों को दिया रास्ता

किसानों द्वारा लगाए गए जाम के चलते काफी संख्या में ट्रक व अन्य वाहन जाम में फंस गए। जिस पर धरना स्थल पर मौजूद लोगों ने जाम में फंसे लोगों तथा चालकों को न केवल खाना खिलाया और चाय पिलाई बल्कि उनकी सुविधाओं का ख्याल रखा। वहीं दूसरी तरफ नेशनल हाइवे से गुजरने वाली अमरजेंसी सेवाओं के वाहनों व किसानों के वाहनों को निकलने दिया गया।

दो घंटे रहे नेशनल हाईवे जाम

जींद-पटियाला नेशनल हाइवे पर गांव खटकड़ टोल प्लाजा तथा हिसार-चंडीगढ़ नेशनल हाइवे पर गांव बद्दोवाला टोल प्लाजा पर लगाए गए जाम को देखते हुए पुलिस ने वाहनों को डायवर्ट करवा दिया। जींद-पटियाला राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़े वाहनों को टोल प्लाजा से पहले रूकवा दिया, जबकि अन्य वाहनों को गांव बडौदी लिंक मार्ग से निकाल दिया गया। इसी प्रकार हिसार-चंडीगढ मार्ग पर वाया सुंदरपुर-दबलैन के रास्ते से वाहनों को निकाला गया। जबकि उस रूट पर भी बड़े वाहन नेशनल हाइवे पर खड़े रहे। दो घंटों के बाद किसानों ने जाम को खोल दिया।


Next Story