Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दीपेंद्र हुड्डा बोले- किसानों का सिर फोड़ने के आदेश देने वाले एसडीएम को बर्खास्त किया जाए, दुष्यंत का जवाब - कार्रवाई जरूर होगी

डिप्टी सीएम ने कहा कि एक अधिकारी द्वारा ऐसी शब्दावली का प्रयोग करना निंदनीय है और इस बारे में कार्रवाई जरूर होगी। उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज के लिए यह स्पष्टीकरण बिल्कुल ठीक नहीं है कि दो दिन से सोये नहीं, उन्हें पता होना चाहिए कि किसान साल के 365 दिनों में 200 रातें नहीं सो पाता।

दीपेंद्र हुड्डा बोले- किसानों का सिर फोड़ने के आदेश देने वाले एसडीएम को बर्खास्त किया जाए, दुष्यंत का जवाब - कार्रवाई जरूर होगी
X

सांसद दीपेंद्र ने कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार से संरक्षण प्राप्त कर जो अधिकारी कह रहे हैं कि किसानों को खींच कर लट्ठ मारो, उनका सिर फोड़ दो, लिखित में देता हूं। उन अधिकारियों को मैं भी लिखकर दे रहा हूं कि आने वाली सरकार किसान हितैषी होगी और जब ऐसा होगा तब 'लोकतंत्र' को 'लाठीतंत्र' समझ बैठे अधिकारियों को अपने एक्शन का हिसाब देना होगा। करनाल में किसानों पर हुई बर्बरता की कड़ी निंदा करते हुए उन्होंने बीजेपी-जेजेपी सरकार और किसानों पर बल प्रयोग करने वाले अधिकारियों को नसीहत दी। सांसद ने कहा कि सत्ता आनी-जानी चीज है, इसलिए कोई अधिकारी सत्ता संरक्षण के अहंकार में लोकतांत्रिक मर्यादाओं को लांघने की गलती ना करे। दीपेंद्र हुड‍्डा ने कहा कि सरकार का संरक्षण प्राप्त अधिकारी खुलेआम किसानों के लोकतांत्रिक अधिकारों को कुचलने का दंभ भर रहे हैं। ऐसे अधिकारी पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए।

वहीँ उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि शनिवार को करनाल में हुए लाठीचार्ज को लेकर वे स्वयं इससे दुखी हैं और ऐसा नहीं होना चाहिए था। करनाल एसडीएम के वीडियो वायरल के संबंध में डिप्टी सीएम ने कहा कि एक अधिकारी द्वारा ऐसी शब्दावली का प्रयोग करना निंदनीय है और इस बारे में कार्रवाई जरूर होगी। उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज के लिए यह स्पष्टीकरण बिल्कुल ठीक नहीं है कि दो दिन से सोये नहीं, उन्हें पता होना चाहिए कि किसान साल के 365 दिनों में 200 रातें नहीं सो पाता। साथ ही दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखना सरकार व प्रशासन का काम है और व्यवस्था किसी सूरत में बिगड़ने नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि एसडीएम का व्यवहार एक आईएएस अधिकारी की ट्रेनिंग के भी विपरीत है।

Next Story