Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साइबर अपराधियों ने बदला ठगी करने का तरीका, ये ट्रिक अपनाकर आप बच सकते हैं

झज्जर के एसपी राजेश दुग्गल ने बताया कि साईबर अपराधी इंटरनेट के माध्यम से ठगी करने में सक्रिय रहते हैं। साईबर अपराधी इंटरनेट और स्मार्टफोन यूजर्स को धोखाधड़ी का शिकार बनाने के लिए फ्रॉड के अलग-अलग तरीके अपनाते हैं।

साइबर अपराधियों ने बदला ठगी करने का तरीका, ये ट्रिक अपनाकर आप बच सकते हैं
X

झज्जर के एसपी राजेश दुग्गल।

हरिभूमि न्यूज. झज्जर :

देखने में आया है कि दिन प्रतिदिन साईबर अपराधियों द्वारा ठगी के नए नए तरीके ईजाद किए जा रहे हैं। साईबर अपराधियों द्वारा की जाने वाली ठगी से बचने के लिए आम नागरिक का जागरुक होना अति आवश्यक है। इस बारे में जानकारी देते हुए एसपी राजेश दुग्गल ने बताया कि साईबर अपराधी इंटरनेट के माध्यम से ठगी करने में सक्रिय रहते हैं। साईबर अपराधी इंटरनेट और स्मार्टफोन यूजर्स को धोखाधड़ी का शिकार बनाने के लिए फ्रॉड के अलग-अलग तरीके अपनाते हैं। इनमें से एक तरीका स्मार्टफोन या इंटरनेट यूजर्स को ऐसे लिंक भेजना, जिनमें मिलियन डॉलर्स की लॉटरी की बात करके उन्हें लिंक पर क्लिक करने का प्रलोभन देना है।

यह लिंक यूजर को मैसेज या ई-मेल के जरिए भेजा जाता है। इस प्रकार के लिंक भेजने के बाद लोगों को अलग- अलग तरह से संदेश देकर दी गई जानकारी पर सहमति देने के लिए प्रभावित किया जाता है तथा एक मोटी रकम का लालच देकर ठगी का शिकार बना लिया जाता है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की कोई भी कॉल या मैसेज आता है तो उस पर विश्वास करके अपनी प्रतिक्रिया न दें, इनसे सावधान रहें। उन्होंने कहा कि साईबर ठगों द्वारा किए गए एसएमएस, व्हाट्सएप मैसेज, कॉल्स व फर्जी ईमेल की मार्फत कार, नकद पुरस्कार, इलेक्ट्रोनिक्स सामान जीतने के लालच में ना आकर सावधान रहे। ऐसे ऑफर के चलते व्यक्ति अपनी पर्सनल बैंक डिटेल किसी अज्ञात से सांझा कर लेता है। इस प्रकार के चालबाजों से सावधानी बरतने का आह्वान करते हुए एसपी राजेश दुग्गल ने कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी को फ्री में कोई ऑफर नहीं देता। उसके पीछे उसकी मंशा भोले नागरिकों को अपने जाल में फांसने की होती है, इसलिए इस प्रकार से प्रलोभन में ना आएं।

Next Story