Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

covid-19 की रिपोर्ट Negative मिलने पर जेल में बंद कुख्यात बदमाश राजू बसौदी के फेसबुक पर लगातार मिल रहे संदेश

कुख्यात बदमाश राजू बसौदी फरीदाबाद (Faridabad) और उसका साथी अक्षय पहलवान पंजाब (Punjab) की जेल में बंद हैं। फैसबुक पर मिल रहे संदेशों में राजू बसौदी को कोविड-19 से संक्रमित मिलने वाले समाचार को प्रशासन की साजिश (The plot) बताया जा रहा हैं। राजू बसौदी की रिपोर्ट निगेटिव आने को 799 ने लाइक (Like) किया है। इस पर 106 ने कमेंट कर राजू बसौदी को बधाई दी है।

covid-19 की रिपोर्ट Negative मिलने पर जेल में बंद कुख्यात बदमाश राजू बसौदी के फेसबुक पर लगातार मिल रहे संदेश
X

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

कुख्यात बदमाश राजू बसौदी की कोविड-19 रिपोर्ट का सैंपल दूसरी बार निगेटिव मिलने पर फैसबुक पर बंधाई देने वाले व खुशी जाहिर करने वालों को तांता लगा हुआ हैं। कुख्यात के लिए उसके फैसबुक साथी समाचार पत्र में निगेटिव रिपोर्ट प्रकाशित के समाचार को टैग कर उसे बधाई दे रहे हैं। फैसबुक पर राजू बसौदी व साथी अक्षय पहलवान के फेसबुक अकाउंट पर दर्शाया जा रहा हैं। जिसमें ढेरों बधाई संदेश हैं। उनको स्वस्थ होने पर शुभकामनाएं दी जा रही हैं। हाल में कुख्यात बदमाश राजू बसौदी फरीदाबाद और उसका साथी अक्षय पहलवान पंजाब की जेल में बंद हैं। फैसबुक पर मिल रहे संदेशों में राजू बसौदी को कोविड-19 से संक्रमित मिलने वाले समाचार को प्रशासन की साजिश बताया जा रहा हैं। उसको कोविड-19 से संक्रमित होने को गलत बताते हुए उसके साथियों ने अनहोनी की आशंका के रूप में देखा था।

799 लाइक और 106 लोगों ने किए कमेंट

राजू बसौदी के कोरोना संक्रमण की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसको भी फेसबुक अकाउंट पर टैग किया गया है। इसको राजू बसौदी और उसके साथी अक्षय पहलवान के फेसबुक अकाउंट पर लगाया गया है। उसके साथ ही राजू बसौदी के शुभ चिंतकों के संदेश लगातार फेसबुक अकाउंट पर आ रहे हैं। राजू बसौदी की रिपोर्ट निगेटिव आने को 799 ने लाइक किया है। इसपर 106 ने कमेंट कर राजू बसौदी को बधाई दी है। वहीं अन्य 12 लोगों ने इसको शेयर किया हैं। राजू बसौदी के साथियों ने इसको बड़े उत्साह से लिया हैं।

हर गतिविधि पर नजरें

जेल के अंदर मोबाइल तक की सुविधा नहीं हैं। कोई बाहरी राजू बसौदी व अक्षय पहलवान के अकाउंट को चला रहा हैं। साइबर सेल की मदद से उक्त अकाउंटों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही हैं। प्रशासन की तरफ से कोई लापरवाही कारागार के अंदर नहीं की गई हैं। राजू बसौदी व मोनू लल्हेड़ी के गुर्गो के बीच हुए झगड़े के बाद दूसरी जेल में ट्रांसफर कर दिया गया था। -सतविंदर गोदारा, कारागार, अधीक्षक सोनीपत।

Next Story