Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

COVID-19 : कोरोना से मुकाबला करने को हरियाणा सरकार ने बनाया ये खास प्लान, जानिए

हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला की अध्यक्षता में हुई दिल्ली-एनसीआर में कोविड-19 की स्थिति और तैयारियों की समीक्षा बैठक के दौरान जानकारी दी।

COVID-19 : कोरोना से मुकाबला करने को हरियाणा सरकार ने बनाया ये खास प्लान, जानिए
X

प्रतीकात्मक तस्वीर 

चंडीगढ़। हरियाणा ने कोरोना वायरस के मामलों में हो रही वृद्धि के मद्देनजर इसका प्रभावी ढंग से मुकाबला करने के लिए पुन: सक्रिय रणनीति अपनाई है। 'कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार' को लागू करने से संबंधित स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का भी कड़ाई से पालन किया जा रहा है। हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने यह जानकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला की अध्यक्षता में हुई दिल्ली-एनसीआर में कोविड-19 की स्थिति और तैयारियों की समीक्षा बैठक के दौरान दी।

संजीव कौशल ने पोर्टल पर कॉविड-19 डाटा को समय पर और नियमित रूप से अपडेट करने के संबंध में केंद्रीय गृह सचिव को आश्वस्त करते हुए कहा कि जिला प्रशासन को इसके लिए पहले ही निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों की संख्या में हालिया बढ़ोतरी को देखते हुए हरियाणा सरकार स्थिति पर कड़ी निगरानी, ​​सख्त नियंत्रण, त्वरित कॉनटेक्ट ट्रेसिंग सहित क्लीनिकल मैनेजमेंट पर सक्रियता से जोर दे रही है। इसके अलावा, सूचना शिक्षा और संचार (आईईसी) गतिविधियों के माध्यम से भी लोगों को मास्क पहनने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। कौशल ने कहा कि राज्य भर में कोविड-19 की पॉजिटिविटी दर को कम करने के लिए सतत प्रयासों के साथ-साथ विशेष रूप से कंटेनमेंट जोन में टेस्टिंग को बढ़ाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि कुछ जिलों में, विशेष रूप से गुरुग्राम में पॉजिटिविटी दर में अतिरिक्त वृद्धि दर्ज की जा रही है, इसलिए प्रतिदिन टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित करने पर व्यापक रणनीति बनाई जा रही है। इसी कड़ी में गुरुग्राम में वायरस की श्रंखला तोड़ने के लिए 9 माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किए जा चुके हैं। इसके अलावा, पूरे हरियाणा में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान पहले ही चलाया जा रहा है। 15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग के लगभग 72 प्रतिशत आबादी को कोविड-19 रोधी टीकाकरण की पहली खुराक दी गई है, जबकि 12 से 14 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों की लगभग एक तिहाई आबादी को कवर किया गया है।

और पढ़ें
Next Story