Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोर्ट पेपर लीक मामला : दिल्ली में भी परीक्षा के समय इलेक्ट्रोनिक डिवाइस के साथ पकड़े थे 20 युवक

दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने बुधवार को उचाना तथा सदर थाना नरवाना इलाके के आधा दर्जन गांवों में दस्तक दी। छापेमारी के दौरान दिल्ली पुलिस को पेपर लीकेज से जुड़ा कोई व्यक्ति हत्थे नहीं चढ़ा।

कोर्ट पेपर लीक मामला : दिल्ली में भी परीक्षा के समय इलेक्ट्रोनिक डिवाइस के साथ पकड़े थे 20 युवक
X

28 फरवरी को छापा मारकर पुलिस ने इन आरोपितों को गिरफ्तार किया था। फाइल फोटो

हरिभूमि न्यूज. जींद

दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने बुधवार को दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज के सिलसिले में उचाना तथा सदर थाना नरवाना इलाके के आधा दर्जन गांवों में दस्तक दी। परीक्षा के दौरान दिल्ली में 20 युवकों को इलैक्ट्रोनिक डिवाइस के साथ दिल्ली पुलिस ने पकड़ा था। जिनके तार पेपर लीकेज के मुख्य सरगना गांव काकड़ौद निवासी अशोक से जुड़े हुए थे। छापेमारी के दौरान दिल्ली पुलिस को पेपर लीकेज से जुड़ा कोई व्यक्ति हत्थे नहीं चढ़ा। वहीं, जिला पुलिस की गठित टीमों ने भी पेपर लीकेज से जुड़े लोगों के संभावित ठिकानों पर दबिश दी लेकिन उन्हें भी निराशा हाथ लगी। काबिलेगौर है कि उचाना थाना पुलिस ने गांव काकडौद व नचारखेड़ा के बीच मुर्गी फार्म व मकान पर छापेमारी कर दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज का भंडाफोड किया था। पुलिस ने इस मामले में पंजाब कैग में आडिटर सुरेंद्र व अकाउंटेंट हरदीप को गिरफ्तार कर पांच दिन के रिमांड पर लिया था। दोनों फोन पर आंसर की पढ़ा रहे थे। मुख्य सरगना के तौर पर गांव काकडौद निवासी अशोक का नाम सामने आया था।

अशोक का भाई भी शामिल

इस गोरखधंधे में अशोक का भाई भी शामिल बताया गया। वहीं दिल्ली पुलिस ने 28 फरवरी को दिल्ली न्यायालय ग्रुप डी की परीक्षा के दौरान दिल्ली के अलग-अलग परीक्षा केंद्रों से 20 परीक्षार्थियों को इलैक्ट्रोनिक डिवाइस के साथ पकड़ा था। जिनके खिलाफ अलग-अलग थाना क्षेत्रों में तीन एफआईआर दर्ज हैं। पकड़े गए परीक्षार्थियों को दिल्ली पुलिस ने रिमांड पर लिया हुआ है। रिमांड अवधि के दौरान दिल्ली पुलिस को पता चला कि पेपर लीकेज के तार गांव काकडौद निवासी अशोक से जुड़े हुए हैं। उसी सिलसिले में कडिय़ों को जोड़ते हुए दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम गांव खेडी मसानिया, खापड़, दनौदा व सदर थाना नरवाना के दो-तीन अन्य गांवों में दस्तक दी। दिल्ली पुलिस को इस दौरान कड़ी से जुड़ा कोई व्यक्ति हत्थे नहीं चढ़ा। जिस पर दिल्ली क्राइम ब्रांच टीम वापस लौट गई। डीएसपी जितेंद्र ने बताया कि दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम जांच के सिलसिले में उचाना तथा नरवाना सदर थाना इलाके में पहुंची थी। दिल्ली में लगभग 20 ऐसे परीक्षार्थियों को पकड़ा गया, जिनके पास डिवाइस थी। उनके तार काकड़ौद निवासी अशोक से जुड़े हुए हैं व कुछ अन्य गांवों में भी उनकी कडिय़ां जुड रही हैं। जिसके आधार पर जिला पुलिस भी छापेमारी कर रही है।


Next Story