Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरियर का काम करने वाला निकला पीएनबी से लाखों रुपये लूटने का मास्टरमाइंड, इस कारण दिया वारदात को अंजाम

गांव के रहने वाले युवक के साथ दिया वारदात को अंजाम, आरोपित के कब्जे से लूट के रुपयों में चार लाख की नकदी, वारदात में प्रयुक्त बाइक व अवैध पिस्तौल और दो कारतूस बरामद किए हैं।

कोरियर का काम करने वाला निकला पीएनबी से लाखों रुपये लूटने का मास्टरमाइंड, इस कारण दिया वारदात को अंजाम
X

जानकारी देते पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा और गिरफ्तार आरोपी।

हरिभूमि न्यूज़ : सोनीपत

सिविल लाइन थाना क्षेत्र के आठ मरला स्थित पीएनबी की मॉडल टाउन शाखा से दिनदहाड़े साढ़े आठ लाख रुपये लूटने के मामले में सीआईए-2 की टीम ने एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपित गांव पांची जाटान निवासी दीपक है। पुलिस ने उससे नकदी, बाइक व हथियार बरामद किए हैं। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश किया जहां से उसे 3 दिन के रिमांड पर भेजा है। पुलिस उसके साथी की तलाश में दबिश दे रही है।

एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि पीएनबी माडल टाउन शाखा प्रबंधक सेक्टर-15 निवासी रीमा रावत ने 9 जुलाई को शिकायत दी थी कि करीब साढ़े तीन बजे दो बदमाश बैंक से करीब नौ लाख रुपये लूटकर ले गए। बदमाश बाइक पर सवार होकर आए थे और चेहरे पर मास्क लगा रखा था। उनमें एक के हाथ में पिस्तौल तथा दूसरे के हाथ में चाकू था। उन्होंने कैशियर पूजा व एक अन्य कर्मी रश्मि से मारपीट की थी। मुकदमा दर्ज करने के बाद सिविल लाइन थाना पुलिस के साथ ही सीआईए-1 व सीआईए-2 को जांच सौंपी गई थी। जिस पर सीआईए-2 की टीम ने मामले में आरोपित दीपक को रेलवे रोड से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के कब्जे से लूट के रुपयों में चार लाख की नकदी, वारदात में प्रयुक्त बाइक व अवैध पिस्तौल और दो कारतूस बरामद किए हैं। आरोपित ने अपने गांव के सुभाष के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश कर रिमांड की अपील की अदालत ने आरोपित को 3 दिन के रिमांड पर भेजा है रिमांड अवधि के दौरान आरोपित से गहनता से पूछताछ की जा रही है पुलिस उसके साथी की तलाश में जुटी हुई है । आरोपित फिलहाल ऋषिकेश भागने की तैयारी कर रहा था, लेकिन पहले ही उसे पकड़ लिया गया।

कोरियर का काम करता है आरोपित, लॉकडाउन में मंदी के चलते की वारदात

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपित ने शुरुआती पूछताछ में बताया कि वह कोरियर का काम करता है। लॉकडाउन में काम मंदा होने के बाद उस पर कर्ज बढ़ गया। उसने क्रेडिट कार्ड पर लोन लिया था। जिसकी किस्त नहीं चुका पा रहा था। उसने और लोन लेने का प्रयास किया तो लोन नहीं मिल सका। कोरियर के कार्यालय का किराया भी देना था। जिसके चलते साथी सुभाष के साथ बैंक लूट की साजिश रची। लूटपाट के बाद क्रेडिट का लोन, किराया व उधारी चुका दी।

Next Story