Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में फ्रंटलाइन वर्कर्स के कोरोना टीकाकरण का काम आज से, जानें किसको लगेगी वैक्सिन

हरियाणा में लगभग 1 लाख 25 हजार हेल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया गया है। इसी प्रकार, अब दूसरे चरण की भी सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं ।

कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में राजस्थान पूरे देश में अव्वल, इस घातक बीमारी पर लगा अंकुश
X

कोरोना वैक्सीनेशन के मामले में राजस्थान पूरे देश में अव्वल

हरिभूमि ब्यूरो : चंडीगढ़

हरियाणा में कोविड-19 वैक्सीन रोल आउट के पहले चरण के सफल क्रियान्वयन के बाद अब दूसरे चरण की शुरुआत 3 फरवरी, 2021 से होगी। दूसरे चरण में विभिन्न विभागों के फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जाएगा। इसके लिए ऐसे सभी वर्कर्स का 7 फरवरी, 2021 तक को-विन पोर्टल पर पंजीकरण किया जाएगा।

यह निर्णय यहां मुख्य सचिव विजय वर्धन की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई स्टेट स्टीयरिंग कमेटी और स्टेट टास्क फोर्स कमेटी की तीसरी बैठक में लिया गया। बैठक में मंडल आयुक्तों, जिला उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, जेल ‌अधीक्षक, जिला विकास एवं पंचायत अधिक‌ारियों, नगर आयुक्तों, होम गार्ड इंचार्जों, मेडिकल कॉलेज के निदेशकों और सीएमओ ने हिस्सा लिया।

विभागों से समन्वय स्थापित करें : विजय वर्धन

विजय वर्धन ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला उपायुक्त कोविड-19 वैक्सीन रोल आउट के दूसरे चरण के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए वि‌भिन्न विभागों के साथ समन्वय स्थापित करने में भूमिका अदा करें। साथ ही, वैक्सीन के लिए पात्र लाभार्थियों को टीका लगाने के लिए पहले चरण की ही तरह सुव्यवस्थित ढंग से तैयारी रखें।

दूसरे चरण की तैयारियां पूरी : राजीव अरोड़ा

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन रोल आउट के पहले चरण में हरियाणा देश में शीर्ष तीन राज्यों में शामिल है। हरियाणा में लगभग 1 लाख 25 हजार हेल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया गया है। इसी प्रकार, अब दूसरे चरण की भी सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं और पहले चरण की तर्ज पर ही सभी आवश्यक दिशा-निर्देशों की अनुपालना करते हुए इस चरण में टीकाकरण किया जाएगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा के मिशन निदेशक प्रभजोत सिंह ने बताया कि फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में राजस्व, पंचायती राज संस्थान, जेल, राज्य पुलिस, होम गार्ड, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के कर्मचारियों को शामिल किया गया है। अभी तक पोर्टल पर दूसरे चरण के लिए लगभग 1 लाख 10 हजार फ्रंटलाइन वर्कर्स का पंजीकरण हो चुका है। प्रभजोत ने बताया कि राज्य में कोविड वैक्सीन की 7 लाख 23 हजार डोज केंद्र सरकार से प्राप्त हुई हैं। वैक्सीन की स्टोरेज के लिए प्रदेश में उपयुक्त कोल्ड स्टोरेज चैन हैं।


Next Story