Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वैक्सिनेशन : हांसी में टीका लगाने के बाद बुजुर्ग की मौत, फतेहाबाद में दो डोज के बाद भी स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित

हांसी के गांव बड़ाला में कोरोना वैक्सिन के कुछ देर बाद बुजुर्ग की मौत हो गई। भूना के सरकारी अस्पताल में कार्यरत हैल्थ वर्कर दो डोज लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हो गई।

Delhi Corona Vaccination Drive: दिल्ली में कोरोना वैक्सीन अभियान में आई तेजी, जानें पिछले 24 घंटे में कितने लगे टीके
X

दिल्ली में कोरोना वैक्सीन अभियान में आई तेजी

कोरोना के बढ़ते केस को देखकर स्वास्थ्य विभाग ने कोराेना वैक्सिन लगाने का मेगा अभियान चलाया हुआ है। परंतु वैक्सिन लगाने के बाद भी कुछ लोगों की हालत बिगड़ रही है। हांसी के गांव बड़ाला में कोरोना वैक्सिन के कुछ देर बाद एक बुजुर्ग की मौत हो गई। वहीं फतेहाबाद में भूना के सरकारी अस्पताल में कार्यरत एक मल्टीपर्पज हैल्थ वर्कर के कोरोना वैक्सीन की दो डोज लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हो गई।

बुजुर्ग की आधे घंटे बाद मौत

हांसी। सोमवार को बड़ाला गांव के राजकीय कन्या हाई स्कूल में 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए डॉक्टर दीपक सैनी की अगुवाई में शिविर लगाया गया। कैम्प में गांव के 112 बुजुर्गों ने वैक्सीन लगवाई। दोपहर बाद 65 वर्षीय बुजुर्ग रामफल शर्मा भी वैक्सीन लगवाने पहुंचे। टीम के मुताबिक कुछ देर तक डॉक्टरों ने उनको ऑब्जर्वेशन में रखा। आधे घंटे का ऑब्जर्वेशन पीरियड पूरा होने के बाद वे घर चले गए थे। ग्रामीणों ने बताया कि घर पहुंचने से पहले ही वे गली में अचेत होकर गिर गए। जहां से उनको गांव में वैद्य की दुकान में ले जाया गया। बाद में परिजन उसे वापस स्कूल में डॉक्टरों के पास ले गए। डॉक्टर दीपक तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ता मनोज कुमार उसे हांसी ले गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। स्वास्थ्य निरीक्षक सज्जन सिंह ने कहा कि बुजुर्ग की मौत किस वजह से हुई है, यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा।

हैल्थ वर्कर ने दो डोज लगवाई थी

फतेहाबाद। जिले में कोरोना वैक्सीनेशन पर सवालिया निशान लगाने का एक मामला सामने आया है। जिले के भूना के सरकारी अस्पताल में कार्यरत एक मल्टीपर्पज हैल्थ वर्कर के कोरोना वैक्सीन की दो डोज लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हो गई। हाल ही में करवाए गए कोरोना टैस्ट में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मिली जानकारी के अनुसार भूना में कार्यरत एमपीएचडब्ल्यू ने गत 19 जनवरी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। उसके बाद उसने 19 फरवरी को वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। उक्त महिला कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग के कोरोना टीकाकरण अभियान में लगातार अपनी सेवाएं दे रही है। गत दिवस तबीयत बिगड़ने पर महिला कर्मचारी का कोरोना टैस्ट किया गया जिसमें वह कोरोना संक्रमित पाई गई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हैल्थ वर्कर को होम आइसोलेट कर दिया गया है।

Next Story