Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में काेरोना ने बढ़ाई चिंता, सरकार ने बनाया यह प्लान

बुधवार को पूरे हरियाणा में 179 ताजा केस एक ही दिन में सामने आए हैं। इनमें से 146 केस गुरुग्राम अकेले में आएं हैं। फरीदाबाद में 27, करनाल में तीन, सोनीपत फतेहाबाद व पलवल में एक-एक केस आएं हैं।

हरियाणा में काेरोना ने बढ़ाई चिंता, सरकार ने बनाया यह प्लान
X

चंडीगढ़। हरियाणा प्रदेश के एनसीआर दिल्ली से सटे जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल में कोविड संक्रमण के नए मामले मिलने के साथ ही प्रदेश सेहत विभाग के अफसरों की चिंता बढ़ गई है। प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस संबंध में हरियाणा राज्य स्वास्थ्य विभाग के आला-अफसरों के साथ में विचार मंथन किया। मंत्री अनिल विज ने पूरे राज्य के सभी जिलों में ताजा हालात की समीक्षा भी की है। इसके बाद में उन्होंने हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा को एनसीआर दिल्ली से सटे गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल की समीक्षा के लिए भेजा है।

इस बात की पुष्टि खुद गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बुधवार को चंडीगढ़ में की है। उन्होंने यह भी कहा कि अरोड़ा बुधवार को इन जिलों में जाकर समीक्षा के लिए रवाना हो चुके हैं। दूसरी तरफ, सेहत मंत्री अनिल विज ने कहा कि फिलहाल, गुरुग्राम, फरीदाबाद में ही केस सामने आए हैं, बाकी अधिकांश जिलों में केस नहीं हैं। कुछ जिलों में हैं, भी तो इक्का दुक्का केस सामने आए हैं। गृह एवं सेहत मंत्री अनिल विज का कहना है कि राज्य में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। विज ने कहा कि हमारे यहां केवल गुरुग्राम व फरीदाबाद में ताजा केसों का पता लगा है। लेकिन इसकी पड़ताल के लिए एसीएस राजीव अरोड़ा को वहां भेजा गया है। वहां पर पूरी समीक्षा और ताजा स्थिति की रिपोर्ट आने के बाद ही इस पर कुछ ज्यादा कहा जा सकेगा।

बुधवार को पूरे प्रदेश में नए केस 179 मिले, 146 अकेले गुरुग्राम में

आंकड़ों पर गौर करें तो बुधवार को पूरे हरियाणा में 179 ताजा केस एक ही दिन में सामने आए हैं। इनमें से 146 केस गुरुग्राम अकेले में आएं हैं। फरीदाबाद में 27, करनाल में तीन, सोनीपत फतेहाबाद व पलवल में एक-एक केस आएं हैं। इस तरह से छह जिलों में मामले सामने आएं हैं, बाकी में नहीं हैं। टैस्टिंग की बात करें, तो छह हजार से ज्यादा की टैस्टिंग की गई है। रिकवरी रेट भी ठीक है, 98.86 है। मृत्युदर 1.08 फीसदी है। यह बुधवार रिकवरी की स्थिति है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया अलर्ट

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एक पत्र लिखकर हरियाणा सहित पांच राज्यों को ताजा केसों को लेकर मुस्तैद रहने के लिए कहा है। हालांकि हरियाणा में सेहत मंत्री, एसीएस सेहत विभाग और डीजी हेल्थ का कहना है कि हमारे यहां पर चिंता वालाी कोई बात नहीं है। हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं, क्योंकि हरियाणा ने दो लहरों में काफी कुछ सीखा और अपने मूलभूत ढ़ांचे को मजबूत करने का काम किया है।

और पढ़ें
Next Story